मधुबनी । झंझारपुर व लखनौर प्रखंड में नामांकन के बाद संवीक्षा का काम चल रहा है। यह संवीक्षा 30 अक्टूबर तक चलेगी। झंझारपुर में प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ कृष्णा कुमार स्वयं मुखिया पद के लिए हुए नामांकन पत्रों की जांच करते देखे गए। इसी तरह लखनौर में यह संवीक्षा का काम तेजी से चल रहा है। दोनों ही प्रखंडों में नामांकन पत्रों में अगर कोई मामूली त्रुटि निर्वाची पदाधिकारी के समक्ष आता है तो संबंधित अभ्यर्थी को फोन कर उसे ठीक करने को कहा जा रहा है। अधिकारियों का स्पष्ट मत है कि नामांकन प्रपत्र रिजेक्ट न हो। झंझारपुर में पंचायत समिति सदस्य पद के लिए कुल 182, मुखिया पद के लिए कुल 153, सरपंच पद के लिए कुल 101, ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए कुल 953 तथा ग्राम कचहरी पंच पद के लिए कुल 397 अभ्यर्थियों ने अपना नामांकन किया है, जिसकी संवीक्षा की जा रही है। इसी तरह लखनौर प्रखंड में पंचायत समिति सदस्य पद के लिए कुल 135, मुखिया पद के लिए कुल 156, सरपंच पद के लिए कुल 93, ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए कुल 914 तथा ग्राम कचहरी पंच के लिए कुल 390 लोगों ने अपना नामांकन किया है, जिसकी संवीक्षा की जा रही है। नामांकन करते ही मुखिया प्रत्याशी गिरफ्तार मधेपुर प्रखंड की डारह पंचायत से मुखिया पद के लिए नामांकन कराने पहुंचे हिफजूर रहमान नामक एक प्रत्याशी को भेजा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। वे डारह गांव में दो समुदायों के बीच हुई मारपीट की घटना में नामजद आरोपी हैं। उनके द्वारा नामजदगी का पर्चा भरने के उपरांत पुलिस ने लगभग तीन घंटे बाद प्रखंड कार्यालय के पीछे दरवाजे से उन्हें थाने ले गई। गुरुवार की सुबह जैसे ही वे नामांकन को पहुंचे, पहले से मौजूद पुलिस ने उसे पकड़ लिया। यह बात जैसे ही बाहर पहुंची, उनके समर्थकों के बीच मायूसी छा गई। इस बीच कई समर्थक चोरी-छिपे उनके मिलने भी पहुंचे।

Edited By: Jagran