मधुबनी । भैरवा महादेव मंदिर में होने वाले श्रावणी मेले की तैयारी को लेकर प्रशासनिक तैयारी शुरू हो चुकी है। इसी क्रम में एसडीओ अशोक कुमार मंडल एवं एसडीपीओ अरुण कुमार सिंह ने शनिवार को भैरवा स्थित उगना महादेव मंदिर परिसर का मुआयना किया। इस दौरान दोनों पदाधिकारियों ने जल बोझने वाले स्थल बलहा घाट का भी निरीक्षण किया। घाट पर साफ-सफाई के साथ ही कई आवश्यक निर्देश दिए। बलहा गांव स्थित सामुदायिक भवन को स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा अतिक्रमण किए जाने की जानकारी मिलने पर एसडीओ एवं एसडीपीओ ने नाराजगी जताते हुए शीघ्र ही सामुदायिक भवन को खाली कर अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिया। बलहा घाट में ही कांवरियों के द्वारा जलाभिषेक कर आने-जाने वाले सरकारी रास्ता को अतिक्रमण मुक्त कराने का निर्देश भी सीओ को दिया। भैरवा उगना महादेव मंदिर प्रांगण की दुर्दशा को देखकर दोनों पदाधिकारी खिन्न रह गए। उन्होंने मंदिर कमेटी के सदस्यों एवं पुजारी को यथाशीघ्र साफ- सफाई का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि आगामी 16 जुलाई से प्रथम सोमवारी के अवसर पर श्रावणी मेला का शुभारंभ होना है। इसके लिए शीघ्र ही जनप्रतिनिधियों एवं दोनों समुदायों के गणमान्य व्यक्तियों की मौजूदगी में बैठक किए जाने की तैयारी की जा रही है। इस मौके पर थानाध्यक्ष राजकुमार राय, प्रखंड सांख्यिकी पदाधिकारी मुकेश कुमारी एवं पूर्व जिप सदस्य अजय साह भी मौजूद थे। बता दें कि बीते दो वर्षों से कोरोना संक्रमण को लेकर श्रद्धालुओं का आना-जाना कम रहा। हालांकि, इस बार स्थिति सामान्य होने पर श्रद्धालुओं में काफी उत्साह का माहौल देखा जा रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस बार सावन मास में उगना महादेव स्थान पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ जुटेगी। खासकर, सावन मास की सोमवारी पर यहां जलाभिषेक को दूर-दूर से श्रद्धालु पहुंचते रहे हैं। बीते दो वर्षों में कोरोना संक्रमण के कारण हालात बदले रहे, लेकिन इस बार फिर वहीं पुरानी रौनक लौटने वाली है।

-----------------------

Edited By: Jagran