मधुबनी। विभिन्न राजनीतिक दल नेताओं के साथ बीएलओ एवं बीएलए की बैठक शीघ्र होगी। ताकि समन्वय स्थापित कर मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्य को द्रुत गति प्रदान की जाए। उक्त बातें डीसीएलआर बुद्व प्रकाश ने कही । ये बुधवार को बाबूबरही प्रखंड के ई किसान भवन में विधानसभा स्तरीय पुनरीक्षण कार्य को लेकर विभिन्न राजनीतिक दल क नेताओं के साथ बैठक कर रहे थे। कई समस्याएं सामने आई। निष्कर्ष आया अगर प्रखंड स्तर पर ¨लंक स्थापित कर दिया जाए तो नब्बे फीसद समस्याएं दूर हो सकती है। डीसीएलआर ने कहा इस संदर्भ में जिलापदाधिकारी को पत्र लिखकर अवगत कराएंगे।

मतदाता सूची में नाम जोड़ने को लेकर उम्र के लिए शपथ पत्र की अनिवार्यता , बार बार प्रपत्र भरने के बाद भी वोटर लिस्ट में नाम नहीं जुडने, त्रुटि सुधार नहीं होने, बीएलओ द्वारा महज दस फीसद नए नाम जोड़ने की बात कहने की बात सामने आई। खजौली बीडीओ रतन दास ने स्पष्ट किया कि दस प्रतिशत की बात बेबुनियाद है। लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर महिला-पुरुष के अनुपात का खयाल रखा जाना है। स्पष्ट किया कि नेपाल से विवाह कर लाई गई महिलाओं की मतदाता सूची में नाम निहित प्रक्रिया के माध्यम से ही होगी। बैठक में खजौली, बाबूबरही एवं लदनिया बीडीओ क्रमश: रतन दास, प्रकाश कुमार एवं अजित कुमार लाल ,रंधीर खन्ना ,शारदा निराला, सुनिल मंडल, लालबाबू राय, सूर्यनारायण यादव, सूर्यदेव ¨सह, राजदेव ¨सह, अनिल सहनी,तनुक लाल यादव, महेन्द्र प्रसाद ¨सह, राजकुमार यादव, रंजीत कामत, दिलचन्द सहनी, अरूण ¨सह, जमील अख्तर, अनिल रावत,लक्ष्मी पासवान, चन्द्रकांत साहु, दिगम्बर झा, योगेन्द्र ¨सह , बलराज सहनी , विजय कुमार ¨सह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran