मधुबनी। आइएसओ मान्यता प्राप्त झंझारपुर अनुमंडल अस्पताल की व्यवस्था को ग्रहण लग गया है। यह अस्पताल बेहतर इलाज व्यवस्था को लेकर झंझारपुर एवं फुलपरास अनुमंडल ही नहीं नेपाल के निकटवर्ती क्षेत्र में जाना जाता था। मगर, अभी स्थित यह है कि यहां की एक्सरे मशीन भी चार दिनों से बंद पड़ी है। एक्सरे जांच बन्द रहने से यहां आने वाले रोगियों का समुचित इलाज नहीं हो पा रहा है। वहीं बाहर से जांच कराने पर रोगियों के परिजनों पर अधिक समय और आर्थिक बोझ पड़ रहा है। यहां आने वाले रोगियों के परिजनों में मोमिन, मुस्ताक, दीना पासवान, लडडू झा, मोहन राय आदि बताते हैं कि एक्सरे बंद रहने के कारण इलाज में काफी परेशानी हो रही है। निजी एक्सरे सेंटर पर ले जाकर जांच कराने में परेशानी है। इससे इलाज में समय लगता है। एक्सरे बंद रहने के बारे में पूछे जाने पर अस्पताल के प्रबंधक श्याम चौधरी ने बताया कि एक्सरे प्लेट समाप्त हो गया है। दो-तीन दिनों में प्लेट आने से एक्सरे की सुविधा बहाल हो जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप