मधुबनी। प्रेम विवाह रचाने वाली एक विवाहिता के दांपत्य जीवन में एक तीसरे व्यक्ति के इंट्री का भयानक परिणाम सामने आया है। विवाहिता ने अपने प्रेमी के साथ साजिश रचकर अपने ही पति को मौत की घाट उतार डाला। इससे विवाहिता की मांग की ¨सदूर ही नहीं बल्कि घर -परिवार तक उजड़ गया। इस मामले का उछ्वेदन करने के बाद पुलिस ने इस लोमहर्षक हत्याकांड में शामिल तीन हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि इस हत्याकांड की साजिश में शामिल पत्नी फरार है। 08 एवं 09 सितंबर की दरम्यानी रात हुई थी सरोज मंडल हत्याकांड : सदर एसडीपीओ कामिनी बाला ने बुधवार को अपने सरकारी दफ्तर में आयोजित प्रेसवार्ता में कहा कि बीते 08 एवं 09 ¨सतबर की दरम्यानी रात में अज्ञात अपराधियों द्वारा पंडौल थाना क्षेत्र के बटलोहिया निवासी नीलू देवी की पति सरोज मंडल की हत्या कर शव को बटलोहिया गांव से पूरब बटलोहिया से कमलाबाड़ी जाने वाली रास्ता के बगल में फेंक दिया गया था। इस संबंध में नीलू देवी के बयान पर अज्ञात अपराधियों के विरूद्ध पंडौल थाना में हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई गई। अज्ञात अपराधियों के विरूद्ध कांड दर्ज होने के कारण इस कांड को उछ्वेदन पुलिस के लिए चुनौती बन गया था। कांड के उछ्वेदन एवं अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु सदर अंचल इंस्पेक्टर देवेन्द्र कुमार यादव के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया। जिसमें पंडौल थानाध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार पासवान समेत कई अन्य पुलिस पदाधिकारी को शामिल किया गया। गिरफ्तार अपराधियों ने हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकारी : सदर एसडीपीओ कामिनी बाला ने बताया कि विशेष टीम ने इस हत्याकांड का उछ्वेदन करते हुए इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए अपराधियों में पंडौल थाना क्षेत्र के फतेहपुर बेलाही निवासी मुन्ना कुमार यादव, बटलोहिया निवासी कृष्ण चौपाल एवं अमृतगंज लोहट निवासी संतोष कुमार दास शामिल है। सदर एसडीपीओ ने बताया कि पूछताछ के दौरान गिरफ्तार किए गए अपराधियों ने सरोज मंडल की हत्या करने में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर लिया है। गिरफ्तार अपराधियों की निशानदेही पर हत्याकांड को अंजाम देने में प्रयुक्त खून लगा शीशी एवं शीशी का टुकड़ा भी बरामद कर लिया गया है। पत्नी के बेबफाई ने ली पति सरोज मंडल की जान : उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए मुन्ना कुमार यादव का सरोज मंडल की पत्नी एवं इस हत्याकांड की सूचक नीलू देवी के साथ अवैध संबंध था। नीलू देवी का पति सरोज मंडल यूपी का रहने वाला है। सरोज मंडल अपनी पत्नी नीलू देवी को यूपी ले जाना चाहता था। लेकिन नीलू देवी का प्रेमी मुन्ना कुमार यादव नहीं चाहता था कि नीलू देवी यूपी जाए। इन्हीं कारणों से नीलू देवी के कहने पर ही मुन्ना कुमार यादव उक्त दोनों व्यक्तियों के संग मिलकर सरोज मंडल को मौत की घाट उतार दिया। अब इस कांड में वादिनी नीलू देवी भी अभियुक्त बन गई है, जो फिलहाल फरार है। यूपी के सरोज मंडल से नीलू ने रचाया था प्रेम विवाह : बताया जा रहा है कि नीलू के परिजन दिल्ली में काम करते थे। नीलू भी दिल्ली में रहती थी। यूपी के सरोज मंडल भी दिल्ली में रहकर काम करता था। इसी दौरान नीलू एवं सरोज मंडल में जानपहचान हुआ जो बाद में प्रेम में तब्दील हो गया। नीलू एवं सरोज मंडल प्रेम विवाह रचा लिया। सरोज मंडल के माता-पिता का निधन हो गया है। जिस कारण सरोज मंडल बटलोहिया ही आकर बस गया। नीलू से उसे तीन संतान भी पैदा हुआ। लेकिन अंतोगत्वा प्रेमिका से पत्नी बनी नीलू ने ही अपने एक अन्य प्रेमी संग साजिश रचकर अपने ही पति को मौत की घाट उतरवा दिया। इस लोमहर्षक घटना से लोग स्तब्ध है। प्रेसवार्ता में सदर अंचल इंस्पेक्टर देवेन्द्र कुमार यादव एवं पंडौल थानाध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार पासवान भी मौजूद थे।

Posted By: Jagran