मधुबनी। झंझारपुर नगर पंचायत क्षेत्र में सरकारी भूमि पर कब्जा जमाने वाले अतिक्रमणकारियों की अब खैर नहीं। सभी सरकारी भूमि चाहे वह सड़क हो या पोखर का भिडा, नपं प्रशासन द्वारा इसे अतिक्रमण मुक्त कराया जाएगा। राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के प्रधान सचिव के आदेश के आलोक में नपं प्रशासन द्वारा क्षेत्र में सरकारी भूमि को चिन्हित कर अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध अंचल अधिकारी के न्यायालय में अतिक्रमणवाद दायर किया जाएगा।

मालूम हो कि नपं क्षेत्र के मुख्य सड़क समेत अन्य सड़कों पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा होने के कई मामले लंबित हैं। इसके कारण ना केवल यातायात में परेशानी होती है, बल्कि नपं का विकास भी बाधित होता है। यहां के राम चौक, थाना चौक, लंगड़ा चौक, पुराना पोस्ट ऑफिस चौक, मच्छट्टा चौक, झंझारपुर बाजार में अतिक्रमण होने के कारण यातायात व्यवस्था काफी चरमरा गई है। औद्योगिक प्रांगण के गेट के पास के मुख्य सड़क पर अस्थाई मछली बाजार का लगाया जाना यात्रियों के लिए कभी भी खतरनाक बन सकता है।

नपं क्षेत्र में सरकारी भूमि के अतिक्रमण के बारे में पूछे जाने पर नपं अध्यक्ष विरेंद्र नारायण भंडारी ने चेतावनी दी कि अतिक्रमणकारी जल्द बोरिया-बिस्तर समट कर सरकारी भूमि को खाली कर दें। अन्यथा कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए नपं प्रशासन सरकार के आदेश के आलोक में उनके विरुद्ध सीओ के न्यायालय में वाद दायर कर उचित कार्रवाई करेगी। उनका यह भी कहना था कि हर हाल में यहां के सभी सरकारी भूमि को अतिक्रमणमुक्त कराया जाएगा। क्योंकि अतिक्रमण के कारण यहां के सड़कों पर यातायात करना मुश्किल हो रहा है। वहीं अगलगी अथवा अन्य त्रासदी के समय से न तो इन सड़कों पर चार चक्का वाहन पहुंच पाता है और न ही अग्निशमन गाड़ी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस