मधुबनी। झंझारपुर, बिहार से बाहर के प्रदेशों में कमीशन लेकर लोगों को घरों में काम दिलाना एक कथित जालसाज को महंगा पड़ा। ऐसे ही एक मामले में शुक्रवार की रात हिमांचल प्रदेश से आई पुलिस की टीम द्वारा भैरवस्थान थाना क्षेत्र के ओझौल, गोपलखा गांव के निवासी दुखी मुखिया उर्फ मोहन को जालसाजी के आरोप में गिरफ्तार कर रिमाण्ड पर लेने के लिए झंझारपुर कोर्ट में प्रस्तुत किया गया । पुलिस टीम का नेतृत्व कर रहे हिमांचल के न्यू शिमला थाना के एएसआई युधीष्ठर ¨सह ने जानकारी देते हुए बताया कि न्यू शिमला थाना क्षेत्र खलनी के आनन्द निवास के निवासी राकेश वर्मा ने थाना में जालसाजी करने के आरोप में दुखी मुखिया के विरुद्ध कांड सं. 52/18 दर्ज कराया था। इस मामले में दुखी मुखिया पर आरोप लगाया गया था कि वह 10 हजार कमीशन एवं तीन माह का अग्रिम 24 हजार लेकर एक घरेलू नौकर को उनके घर में कार्य करने के लिए रखवाया था। किन्तु वह कुछ दिन के बाद काम छोड़ कर भाग गया। कमीशन एवं अग्रिम ली गई राशि 34000 रुपये वापस लेने के लिए जब दुखी मुखिया की खेाज की गई तो वह भी नहीं मिला। इसके बाद ही थाना में माला दर्ज किया गया था। एएसआई श्री ¨सह ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार करने में भैरवस्थान पुलिस को अपेक्षित सहयोग मिला है। उनकी टीम में आरक्षी रजत प्रकाश एवं साईबर क्राईम के सुरेंद्र दत्त शामिल थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप