मधुबनी। अपराध जगत से जुड़े एक महिला समेत चार कुख्यात अपराधियों को गिरफ्तार करने में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। गिरफ्तार किए गए अपराधियों के पास से दो पिस्टल, दो मैगजीन, चार कारतूस, 35 हजार रुपये से भी अधिक नकदी, पांच मोबाइल हैंडसेट आदि बरामद करने में भी पुलिस सफल रही है। समाहरणालय स्थित अपने कार्यालय प्रकोष्ठ में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी दीपक बरनवाल ने कहा कि मधेपुर थाना क्षेत्र के वीरपुर गांव के थलहा चौड़ी में कुछ अपराधियों द्वारा अपराध की योजना बनाए जाने की गुप्त सूचना मिली थी। इस सूचना पर पुलिस टीम द्वारा की गई छापेमारी में जिले के अंधरामठ थाना क्षेत्र के रजौड़ा महथौरा निवासी कुख्यात अपराधी मुकेश यादव को गिरफ्तार कर लिया गया। इसके पास से दो पिस्टल, दो मैगजीन, चार ¨जदा कारतूस व दो मोबाइल बरामद किया गया। पूछताछ में मुकेश यादव ने बताया कि दोनों पिस्टल लूटी गई राशि से जिले के भेजा थाना क्षेत्र के बहेड़ा कमलपुर निवासी श्रवण कुमार राम तथा दरभंगा जिले के सकतपुर थाना क्षेत्र के राजा खरबार निवासी शैलेन्द्र ¨सह से खरीदा है। इसके बाद श्रवण कुमार राम एवं शैलेन्द्र ¨सह को भी गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं मुकेश यादव के निशानदेही पर मधेपुर पेट्रोल पंप डकैती कांड में नोजल मैन से लूटा गया एक काला बैग तथा 15,750 रुपये नकद इनकी पत्नी रविना देवी के पास से सुपौल जिला के मरौना थाना क्षेत्र के परिकोच स्थित उसके नैहर से बरामद किया गया। इसी बरामदी पर मुकेश यादव की पत्नी रविना देवी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार किए गए शैलेन्द्र ¨सह के पास से 19,350 रुपये नकद, दो मोबाइल हैंडसेट, एक नेपाली व एक भारतीय सीम तथा 12 रेल टिकट बरामद किया गया है। वहीं गिरफ्तार किए गए श्रवण कुमार राम के पास से भी एक मोबाइल हैंडसेट बरामद किया गया। एसपी ने कहा कि गिरफ्तार किए गए मुकेश यादव एक कुख्यात अपराधी है। इसके विरूद्ध मधुबनी व सुपौल जिला के विभिन्न थानों में करीब एक दर्जन लूट, डकैती जैसे संगीन आपराधिक वारदात संबंधी कांड दर्ज है। गिरफ्तार किए गए अन्य अपराधियों का भी आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है। लूट की रकम से श्रवण कुमार राम व शैलेन्द्र ¨सह मुंगेर से हथियार खरीद कर सफ्लाई करता है। मुकेश यादव पहले भी कई बार जेल जा चुका है। लूटी गई राशि के बंटवारे के विवाद में मुकेश ने अपने साथ अपराधी अली जान उर्फ लंबू की हत्या भी कर चुका है। इसका अगला लक्ष्य साथी अपराधी अबू जान को मौत की घाट भी उतारना था। एसपी ने कहा कि इन अपराधियों की गिरफ्तारी पुलिस के लिए बड़ी सफलता है। इस गिरफ्तारी में मधेपुर थानाध्यक्ष अमित कुमार व रहिका थानाध्यक्ष पंकज आनंद का अहम रोल रहा है। इन्हें रिवार्ड दिया जाएगा। प्रेसवार्ता में झंझारपुर के एएसपी योगेन्द्र कुमार समेत कई पुलिस अफसर भी थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप