मधुबनी। रहिका प्रखंड के सौराठ निवासी तरुण झा की संदिग्ध अवस्था में मौत को लेकर शनिवार को ग्रामीणों ने पोखरोनी-मधुबनी रोड को सौराठ चौक पर जाम किया। सड़क पर ही ग्रामीणों ने धरना दिया। उनमें आक्रोश था कि पांच दिन बीत जाने के बाद भी तरुणझा की मॉब लिचिग में हत्या का उद्द्भेदन पुलिस नहीं कर पा रही है। इसे शर्मनाक बताते हुए कहा गया कि पुलिस जांच से स्वजनों को संतुष्ट करे। ऐसा नहीं करने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा। सूचना पर एसपी के प्रतिनिधि के रूप में इंस्पेक्टर अतुल कुमार मिश्रा धरना स्थल पर आए। उन्होंने उचित कार्रवाई का भरोशा दिया। इसके बाद धरना समाप्त किया गया। इस मामले में पंडौल थानाध्यक्ष को तत्काल निलंबित करने की मांग रखी गई।

बिहार प्रदेश कांग्रेस के संगठन सचिव कृष्ण कांत झा गुड्डू ने जाम का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री से मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की। साथ्ज्ञ ही दोषी पदाधिकारियों पर कार्रवाई की मांग रखी गई। धरना पर पंचायत के मुखिया ह्रदय कांत झा, मृत युवक के भाई वरुण कुमार झा, रंजन कुमार झा, प्रशांत झा, शेखर मिश्र, अनुपम राजा, आलोक झा, दीपक कुमार झा, विभाकर झा अतुल कुमार मिश्र, रंजीत मिश्र शिवम झा ,मुन्ना ठाकुर, आनंद झा, गौरव मिश्र, उदय झा समेत सैकड़ों की संख्या में लोग शामिल हुए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस