मधुबनी। शिक्षकों की हड़ताल के बीच मैट्रिक परीक्षा सोमवार से शुरू हो रहा है। हालांकि, शिक्षकों की हड़ताल का मैट्रिक परीक्षा पर कोई भी असर नहीं हो इसके लिए जिला प्रशासन पूरी तरह तैयार है। जिले में 66 केंद्रों पर मैट्रिक परीक्षा ली जाएगी। इस परीक्षा में 61,049 परीक्षार्थी शामिल होंगे। प्रतिदिन दो पालियों में एक ही विषय की परीक्षा ली जाएगी। प्रथम पाली व द्वितीय पाली में अलग-अलग परीक्षार्थी शामिल होंगे। पहली पाली में परीक्षा देने वाली परीक्षार्थी हर दिन पहली पाली में ही परीक्षा देंगे। जबकि दूसरी पाली में परीक्षा देने वाले परीक्षार्थी हर दिन दूसरी पाली में ही परीक्षा देंगे। परीक्षा 24 फरवरी तक चलेगी। इस बार ओएमआर शीट एवं उत्तर पुस्तिका पर भी परीक्षार्थी की तस्वीर छपी रहेगी।

जिला शिक्षा पदाधिकारी नसीम अहमद ने बताया कि वीक्षकों की कोई कमी नहीं है। अधिकतर नियोजित शिक्षक व शिक्षिकाएं भी वीक्षण कार्य के लिए योगदान दे रहे हैं। जिले के सभी 66 केंद्रों पर शांतिपूर्ण माहौल में कदाचारमुक्त परीक्षा संचालन के लिए सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली गई है। वीक्षण कार्य हेतु टोला सेवक, तालीमी मरकज व सेविकाओं की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। ऐसी व्यवस्था कर ली गई है कि परीक्षा संचालन में किसी भी प्रकार की कोई कठिनाई नहीं होगी।

प्रथम पाली सुबह साढ़े नौ एवं दूसरी पाली दोपहर पौने दो बजे शुरू होगी। सीसीटीवी, वीडियो कैमरे व जिला तथा अनुमंडल नियंत्रण कक्ष से भी परीक्षा के दौरान की गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी। सभी परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा के तगड़े इंतजाम के साथ ही पांच सौ गज परिधि में निषेधाज्ञा लागू की गई है। स्टैटिक दंडाधिकारी, जोनल दंडाधिकारी, सुपर जोनल दंडाधिकारी, गश्ती दंडाधिकारी, उड़नदस्ता दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी, सशस्त्र पुलिस, महिला पुलिस, लाठी बल आदि की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। शिवगंगा बालिका प्लस टू उवि मधुबनी, प्रोजेक्ट बालिका प्लस टू उवि बेनीपट्टी, पीएलके प्लस टू उवि झंझारपुर एवं एसकेवाई प्लस टू उवि बरही, फुलपरास को आदर्श परीक्षा केंद्र बनाया गया है। इन परीक्षा केंद्रों पर केंद्राधीक्षक, वीक्षक, स्टैटिक दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी से लेकर सुरक्षाकर्मी के रुप में महिलाओं की प्रतिनियुक्ति की गई है। इन परीक्षा केंद्रों की आकर्षक सजावट की गई है। परीक्षा केंद्र के मुख्य प्रवेश द्वार पर सघन तलाशी के बाद ही परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। एक कमरा में प्रतिनियुक्त वीक्षक को दूसरे कमरे में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। परीक्षार्थियों को जूता-मौजा पहनकर व मोबाइल के साथ परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। प्रत्येक 25 परीक्षार्थी पर एक वीक्षक तथा प्रत्येक कमरे में कम से कम दो वीक्षक की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। वीक्षकों की प्रतिनियुक्ति रैंडमाइजेशन विधि से की जाएगी।

झंझारपुर संस के अनुसार अनुमंडल क्षेत्र में 14 केंद्रों पर 13,598 परीक्षार्थी मैट्रिक परीक्षा में शामिल होंगे। शांतिपूर्ण माहौल में कदाचारमुक्त परीक्षा के लिए अनुमंडल प्रशासन ने सारी तैयारियां पूरी कर ली है।

बेनीपट्टी संस के अनुसार अनुमंडल क्षेत्र में छह केंद्रों पर 2,959 परीक्षार्थी मैट्रिक परीक्षा में शामिल होंगे। शांतिपूर्ण माहौल में कदाचारमुक्त परीक्षा के लिए अनुमंडल प्रशासन ने सारी तैयारियां पूरी कर ली है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस