मधुबनी। जयनगर अनुमंडल अस्पताल परिसर में मंगलवार को दिव्यांगता प्रमाणीकरण शिविर का आयोजन बुनियादी संजीवनी सेवा, मधुबनी के तत्वावधान में किया गया। शिविर में पहुंचे दिव्यांगों की चिकित्सकों के दल द्वारा जांच की गई। दिव्यांगों की जांच हेतु जांच सुविधायुक्त वाहन के माध्यम से आंख एवं फिजियोथेरेपी स्तर के दिव्यांगों की जांच की गई। अन्य स्तर के दिव्यांगों की भी जांच चिकित्सकों के दल द्वारा की गई। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. रविभूषण प्रसाद, नेत्र सहायक दिलीप पासवान, डॉ. रोनित कुमार, डॉ. विजय कुमार द्वारा दिव्यांगों की जांच की गई। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि लगभग एक सौ दिव्यांगों की जांच की गई, जिन्हे बाद में प्रमाण पत्र उपलब्ध कराया जाएगा। हालांकि दिव्यांगता प्रमाणीकरण शिविर का व्यापक प्रचार प्रसार नहीं होने के कारण ग्रामीण क्षेत्र के दर्जनों मरीज जांच से वंचित रह गए। कई पंचायत प्रतिनिधियों ने बताचीत के क्रम में बताया कि शिविर के आयोजन की सूचना समय पर नहीं दिए जाने के कारण ग्रामीण क्षेत्र के दर्जनों दिव्यांग अपना जांच कराने से वंचित रह गए। ज्ञात हो कि निश्शक्तता पेंशन योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु दिव्यांगता प्रमाण पत्र का होना अनिवार्य है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस