मधेपुरा, जेएनएन। महागठबंधन में शामिल होने की अटकलों पर जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने आज विराम लगाते हुए एलान किया है कि वो अब अपने दम पर ही मधेपुरा सीट से चुनाव लड़ेंगे। इसके साथ ही पप्पू ने आरोप लगाते हुए कहा कि 28 दिनों तक उन्हें सिर्फ गुमराह किया गया। सुपौल के सीट पर उनकी पत्नी रंजीत रंजन को लेकर भी ब्लैकमेलिंग की गई। 

सोमवार को पप्पू यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक के बाद पत्रकारों को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि वो अब सिर्फ मधेपुरा से ही चुनाव लड़ेंगे और 28 मार्च को इसके लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।

इससे पहले कहा जा रहा था कि पप्पू यादव कांग्रेस में शामिल होंगे और दो सीटों, पूर्णिया और मधेपुरा से चुनाव लड़ेंगे। इन कयासों पर पप्पू ने विराम लगा दिया है।

इससे पहले जनअधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव को उम्मीद लगी हुई थी कि महागठबंधन से उनको चुनाव लड़ने का न्योता मिल सकता है। इसके लिए पप्पू यादव ने खुले तौर पर अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय की बात भी कह दी थी। पप्पू यादव ने कहा था कि कांग्रेस पार्टी से उन्हें अभी भी उम्मीद बनी हुई है कि उनको आमंत्रित कर सकती है।

उन्होंने कहा था कि हमेशा से मैं महागठबंधन की इज्जत करता रहा हूं और महागठबंधन से अगर चुनाव लड़ने का न्योता मिलता है तो चुनाव लड़ूंगा। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस