संवाद सूत्र, पुरैनी (मधेपुरा): शंकर गोशाला परिसर में गोशाला के विकास को लेकर कमेटी सदस्यों के साथ एसडीएम ने बैठक की।

बैठक में गोशाला के विकास व विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए विचार-विमर्श किया गया। सर्वसम्मति से गोशाला परिसर में आधारभूत संरचना के तहत कला मंच, कार्यालय के लिए कमरा, बैठक के लिए मीटिग हाल बनाने व यहां पलने वाले 33 गायों के चारा रखने के लिए गोदाम व गाय को घूप-बारिश से बचाव के लिए शेड का निर्माण कराने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा गोशाला परिसर में दो वर्मी कंपोस्ट प्लांट लगाने पर भी सहमति बनी। कमेटी सदस्यों को संबोधित करते हुए एसडीएम ने कहा कि गोशाला के विकास के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने पुरैनी, आलमनगर व उदाकिशुनगंज अंचल में स्थित गोशाला की अतिक्रमित जमीन की मापी एवं संबंधित अंचलाधिकारी से कराकर अतिक्रमण खाली कराने की बात कही। साथ ही उन्होंने गोशाला में पलने वाली सभी 33 गायों के देखभाल में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतने को कहा। इसके अलावे कमेटी सदस्यों के प्रस्ताव पर गोशाला की लीज पर दी गई परिसंपत्ति के लीज राशि के निर्धारण पर पुनर्विचार करने की बात कही। बताते चलें कि बैठक में गायों के चारा उत्पादन के लिए गोशाला परिसर के नजदीक मूलचंद सिरोही वाले से लीज पर लिए जमीन एवं अंचल अंतर्गत बघरा स्थित गोशाला की जमीन पर चारा उत्पादन सहित उसके विकास करने की भी बात कही गई। बैठक में लिए गए सभी प्रस्ताव का क्रियान्वयन सरकारी स्तर से प्राप्त आवंटन, मनरेगा योजना, विधायक निधि, जिला परिषद मद एवं उपलब्ध निजी आमदनी से निर्माण कार्य विधिवत तरीके से कराने का प्रस्ताव पारित हुआ। मौके पर प्रखंड विकास पदाधिकारी अरुण कुमार सिंह, अंचलाधिकारी किशुन दयाल राय, राजस्व पदाधिकारी मु.ताबिश हसन, गोशाला कमेटी के सचिव अर्जुन अग्रवाल, सदस्य सह पूर्व मुखिया पवन कुमार केडिया, जिप सदस्य प्रतिनिधि संजय सहनी, गौरव राय, अशोक शर्मा, विवेक कुमार, नारायण चौधरी, विलास शर्मा, गौरव अग्रवाल सहित अन्य मौजूद थे।

Edited By: Jagran