मधेपुरा। अनुमंडल मुख्यालय के एक निजी शिक्षण संस्थान में मंगलवार को यूकेजी की छात्रा के साथ छेड़खानी का मामला सामने आने पर कई सवाल उठने लगे हैं। व्यवस्था को लेकर प्रबंधन पर लोग उंगली उठ रहा है। जिस प्रकार घटना में बढ़ोत्तरी हो रहा है इससे लग रहा है कि निजी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा भगवान भरोसे है। क्या निजी शिक्षण संस्थान महज पैसे कमाने के लिए है। नहीं तो फिर क्या वजह रहा कि नन्ही सी यूकेजी में पढ़ने वाली छात्रा को खुद के भरोसे छोड़ दिया गया। जिसे अभी ठीक से ककहरा का भी ज्ञान नहीं है। ऐसी नन्हीं सी जान को द¨रदे अपना हवस का शिकार बनाने का प्रयास करते हैं। पूरी वाक्या संस्थान परिसर की है। पिता ने हिम्मत दिखाई साथ ही आरोपित किशोर को थाना ले जाकर पुलिस के हवाले किया। मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए प्राथमिकी दर्ज की। पुलिस ने बच्ची के पिता को न्याय का भरोसा दिलाया है। दरअसल मंगलवार को स्कूल परिसर के निचले हिस्से में कपड़ा सिलाई दुकान में मजदूरी का काम करने वाले रहटा गांव के 14 वर्षीय मु. सिराजुल ने यूकेजी की छात्रा को स्कूल के उपरी मंजिल के छत पर ले जाकर छेड़खानी की। वक्त पर पिता के पहुंचने पर बच्ची की जान बची। पूरा मामला मुख्यालय के गोस्वामी पब्लिक स्कूल का है।

-----------------------------------

नहीं बच सकता है स्कूल प्रबंधन

स्कूली छात्रा के साथ छेड़खानी मामले को पुलिस ने गंभीरता से लिया है। थानाध्यक्ष सुरेश राम ने कहा कि कार्रवाई के जद में स्कूल प्रबंधन भी शामिल है। पीड़ित बच्ची के पिता ने प्रबंधन के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराया है। ऐसे में प्रबंधन के बचने का कोई सवाल ही नहीं उठता है। थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले में प्रबंधन की गिरफ्तारी होगी।

-----------------------------

बच्ची के साथ छेड़खानी मामले को ले आंदोलन करेगी जाप छात्र परिषद

उदाकिशुनगंज मुखायलय क्षेत्र में संचालित हो रहे गोस्वामी पब्लिक स्कूल के संचालक के लापरवाही के कारण एक मासूम के साथ दुष्कर्म करने का मामला प्रयास में आते ही जाप छात्र संघ ने आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है। सदस्यों ने मुख्यमंत्री का पुतला फूंकर आंदोलन का आगाज कर दिया है। छात्र संघ के जिला उपाध्यक्ष दुर्गा यादव, जितेंद्र यादव, नीतीश कुमार, रिशु राज, आलोक यादव ने कहा कि आरोपित और संचालक पीके गोस्वामी के ऊपर त्वरित कार्रवाई हो। छात्र परिषद के सदस्यों ने कहा कि शिक्षा माफिया व मासूम के साथ घिनौनी हरकत करने वाले के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा। इस मामले में एसडीएम, शिक्षा विभाग के अधिकारियों से मिलकर ज्ञापन सौंपा जाएगा। गुरुवार को बीआरसी के सामने एक दिवसीय धरना दिया जाएगा।

Posted By: Jagran