मधेपुरा। दीन दयाल ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत विद्युत विभाग अब एक अरब 33 करोड़ रुपये खर्च कर रहा है ताकि ¨सचाई सुविधा बहाल करने का सरकारी लक्ष्य सुनिश्चित की जा सके।

दरअसल विद्युत विभाग किसानों को सिंचाई में मदद करने के लिए विद्युत सुविधा मुहैया कराने पर उक्त राशि खर्च कर रहा है। इस योजना के तहत किसानों को अपने खेतों तक बिजली की सुविधा मिलेगी। इसके लिए विद्युत विभाग अलग से कृषि फीडर का निर्माण कर रहा है।

योजना के प्रारंभिक चरण में कृषि विभाग 34 कृषि फीडर का निर्माण कर रहा है। इसके अलावा छह पावर सब स्टेशन का भी निर्माण कार्य चल रहा है। वहीं 546 किलोमीटर के दायरे में कृषि फीडर का निर्माण हो रहा है। जानकारी के मुताबिक, कृषि फीडर से विद्युत आपूर्ति के लिए 945 ट्रांसफार्मर 25 केवीए का लगाया जाएगा। इन कार्यो को पूरा करने की अवधि जनवरी, 2019 तक का लक्ष्य है। विद्युत विभाग फिलहाल तीन प्रखंडों में चार कृषि फीडर का निर्माण कार्य पूर्ण करवा चुकी है।

------------------------

किसानों को कनेक्शन के लिए देना होगा आवेदन :

फसलों की ¨सचाई के लिए विद्युत कनेक्शन देने की प्रक्रिया अभी से आरंभ कर दी गई है। अब तक विभाग को 2185 आवेदन प्राप्त हो चुका है। जिस प्रखंड में कृषि फीडर का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है, वहां के 60 किसानों ने विद्युत कनेक्शन के लिए विद्युत विभाग द्वारा निर्धारित शुल्क विभागीय कार्यालय में जमा करवा दिया है। शुल्क जमा करवाने वाले किसानों को विभाग विद्युत संबंध देने की प्रक्रिया आरंभ कर दी है। कृषि फीडर का निर्माण कार्य फिलहाल चार जगहों पर संवेदक द्वारा पूर्ण कर लिया गया है।

------------------------

तीन प्रखंडों में पूर्ण हुआ कृषि फीडर का कार्य :

जिले के तीन प्रखंडों कृषि फीडर का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इसमें गम्हरिया प्रखंड में दो, शंकरपुर में एक एवं ग्वालपाड़ा में एक शामिल है। अन्य प्रखंडों में निर्माण कार्य जारी है। कृषि फीडर को विद्युत आपूर्ति हेतु विभाग द्वारा सदर प्रखंड के मानिकपुर एवं धुरगांव, बिहारीगंज प्रखंड बभनगामा, मुरलीगंज प्रखंड के पोखराम परमानंदपुर, उदाकिशुनगंज प्रखंड के शहजादपुर एवं आलमनगर प्रखंड के गंगापुर में शक्ति उपकेन्द्र का निर्माण करवाया जाना है, जिसमें चार जगहों पर निर्माण कार्य चल रहा है। दो जगहों पर भूमि संबंधी समस्या को लेकर निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका है। कृषि फीडर हेतु आये 25 केवीए के ट्रांसफार्मर को विभाग उसी स्थान पर लगाएगी जहां पर किसानों को अपने कृषि कार्य हेतु विद्युत कनेक्शन की जरूरत होगी।

------------------------दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना के तहत कृषि फीडर निर्माण कार्य चल रहा है। कृषि फीडर से सिर्फ किसानों को पटवन के लिए ही बिजली की आपूर्ति की जाएगी। उक्त फीडर से घरेलू उपयोग हेतु बिजली की आपूर्ति नहीं की जाएगी। विद्युत सब स्टेशन का निर्माण कार्य भी तीव्र गति से चल रहा है। हरहाल में निर्धारित समय-सीमा में कार्य पूरा कर लिया जाएगा।

मिथिलेश कुमार ¨सह,

कार्यपालक अभियंता,

विद्युत परियोजना, मधेपुरा

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप