मधेपुरा। मुख्यमंत्री ग्राम सम्पर्क योजना के तहत मुख्यालय के कारू साह के दुकान से देवीदास टोला, कुंदन नगर एवं पिपरपांती टोला होते हुए भटौनी तक कराए जा रहे सड़क निर्माण कार्य का ग्रामीणों ने विरोध किया था। इसके बावजूद संवेदक निर्माण कार्य करवा रहे हैं। संवेदक के इस रवैये से ग्रामीणों में आक्रोश है। मालूम हो कि बीते दिनों सड़क निर्माण के दौरान जीएसबी कार्य में मानक के अनुरूप सामग्री का इस्तेमाल नहीं किए जाने के खिलाफ पिपरपांती टोला एवं कुंदन नगर के ग्रामीणों ने एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन करते हुए निर्माण कार्य को बंद करा दिया था। बाद में संवेदक प्रमोद कुमार प्रेमी के बाहर रहने से मोबाइल से ग्रामीणों को आश्वस्त किया था कि अब निर्माण कार्य में मानक के अनुसार सामग्री का उपयोग किया जाएगा। लेकिन कार्यस्थल पर मौजूद मुंशी संवेदक के इशारे पर मनमाने तरीके से निर्माण कार्य कराने पर उतारू है। स्थानीय ग्रामीण भगवान ¨सह, हरिनंदन ¨सह, बीरू ठाकुर, कैलाश ¨सह, सिकंदर ¨सह, संजय ¨सह, चुन्नू ¨सह, शत्रुघन ¨सह, देवनारायण ¨सह, सुरेश साह, लालबहादुर कुमार, बाबूलाल साह, अशोक ¨सह, कपिलदेव ¨सह, मंटू ¨सह, गंगा ¨सह, खंतर ¨सह, राशो ठाकुर, कुलानंद चौरसिया, ठाकुर ¨सह, गीता ¨सह, फाजो ¨सह, बेचन यादव, मुकेश ¨सह, बबलू ¨सह, नागो ¨सह, राजो ¨सह, रमेश ¨सह आदि ने बताया कि संवेदक के आश्वासन दिये जाने के बावजूद भी कार्यस्थल पर बालू की जगह बलुवाही मिट्टी में नाममात्र की गिट्टी मिलाकर जीएसबी कार्य कराया जा रहा है। संवेदक के अपने क्रियाकलाप से बाज नहीं आने पर हमलोग घटिया निर्माण कार्य के विरूद्ध जोरदार आंदोलन करने को बाध्य हो जाएंगे। इस बाबत उक्त निर्माण कार्य की देखरेख करने रहे कनीय अभियंता रविश रंजन ने बताया कि अविलम्ब जीएसबी कार्य में उपयोग में लाए जा रहे सामग्री के मानक की जांच कर प्राक्कलन के अनुसार निर्माण कार्य कराया जाएगा।

Posted By: Jagran