------------------------

संवाद सूत्र,उदाकिशुनगंज(मधेपुरा) : अनुमंडल में बढ़ रहे अपराध पर लगाम लगाने के लिए पुलिस ने बड़ा अभियान चलाया। अभियान के दौरान हत्याकांड के दो मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। आलमनगर के बजराहा गांव के मासूम आयुष हत्याकांड के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी संजय कुमार ¨सह ने बताया कि आयुष की हत्या जमीन विवाद में हुई थी। उन्होंने बताया कि हत्याकांड के मास्टरमाइंड अशोक यादव गिरफ्तार हुआ है। उसकी गिरफ्तारी कटिहार के बारसोई थाना क्षेत्र से हुई है। गिरफ्तार शख्स अशोक के बारे में बताया गया है कि वह सेना से रिटायर्ड होने पर कटिहार के बारसोई अनुमंडल स्थित सेंट्रल बैंक की शाखा में क्लर्क के पद पर नौकरी कर रहा था। एसपी ने बताया कि अशोक ने शातिराना अंदाज में घटना को अंजाम दिया। अशोक और सुरेश के बीच वर्षों से जमीन का विवाद चल रहा था। जमीन विवाद को लेकर दोनों के बीच पहले भी कई बार विवाद हो चुका है। कटिहार में बैंक में पदस्थापित रहते हुए अशोक ने घटना को अंजाम दिया। एसपी ने बताया कि मोबाइल सर्विलांस के आधार पर अशोक की गिरफ्तारी संभव हो पाया है। पूछताछ के दौरान अशोक ने हत्याकांड में संलिप्तता स्वीकार कर ली है। एसपी ने बताया कि आयुष हत्याकांड में शामिल तीन आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था। घटना में शामिल अन्य लोगों की भी जल्द गिरफ्तारी होगी। मालूम हो कि आलमनगर मुख्यालय के एक नीजी स्कूल से परीक्षा देकर दादा सुरेश मेहता के साथ आयुष घर बजराहा लोट रहा था। सुमन मेहता के पुत्र आयूष (12वर्ष) की हत्या गोली मारकर कर दी गई थी। आयुष की हत्या आलमनगर-फुलौत मार्ग के अठगामा बासा के समीप छह दिसंबर को कर दी गई थी। एसपी ने बताया कि आयुष हत्याकांड के मास्टरमाइंड अशोक यादव की गिरफ्तारी के लिए आलमनगर थानाध्यक्ष राजेश कुमार के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी। टीम में कमांडो विपिन, अभिषेक, कुमोद शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस