लखीसराय । कोरोना काल में पहली बार रविवार छुट्टी के दिन मुख्यालय स्थित बाजार गुलजार रहा। आर्थिक मंदी से आहत शहर के थोक और खुदरा दुकानदारों और व्यापारियों के मुरझाए चेहरे खिल उठे। सावन पूर्णिमा और रक्षा बंधन पर्व को लेकर रविवार की सुबह से ही बाजारों में भारी भीड़ उमड़ पड़ी। एक अनुमान के अनुसार 50 लाख से अधिक का कारोबार हुआ। हाल यह था कि जिला प्रशासन ने जिन दुकानों को खोलने पर पाबंदी लगा रखा है वह सभी दुकानें खुल गई। शहर में सभी मिठाई की दुकान खोल दी गई जहां शाम तक ग्राहकों की भीड़ लगी रही। खासकर रक्षा बंधन पर्व को लेकर राखी खरीदने के लिए काफी संख्या में महिलाएं, युवतियां अपने घरों से निकलकर बाजार आई और अपने भाइयों के लिए रंग-बिरंगे राखी खरीदी। शहर की मुख्य सड़क से लेकर श्रृंगार और जेनरल स्टोर की दुकान पर राखी की खरीदारी करने के लिए महिलाओं की काफी भीड़ लगी रही। ग्रामीण अंचलों से भी काफी संख्या में लोग बाजार पहुंचे। सुबह 7:00 बजे के बाद ही शहर में जाम लग गया। यह स्थिति दिन के 11:00 बजे तक बनी रही। खासकर रेलवे पुल से नया बाजार दालपट्टी तक मुख्य सड़क पर वाहनों की लंबी कतारें लगी रही। रक्षाबंधन पर्व और सावन पूर्णिमा को लेकर लोगों ने अपने अनुसार जरूरत के सामानों को खरीदारी की। नया बाजार में रेडीमेड कपड़े की दुकानों में भी ग्रामीण महिलाओं की काफी भीड़ देखी गई। जिला प्रशासन द्वारा 11:00 बजे दुकान बंद करने का आदेश का भी कोई असर नजर नहीं आया। कुछ दुकानें बंद हुई लेकिन राखी, मिठाई, किराना की दुकानें दिनभर खुली रही। बाजार में ग्राहकों की भीड़ देख स्थानीय पुलिस भी कहीं सक्रिय नजर नहीं आई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस