लखीसराय। बिहार लोकल बाडीज कर्मचारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा के राज्यव्यापी आंदोलन के तहत नगर परिषद लखीसराय में मास्टर रोल पर कार्यरत सभी सफाई कर्मी और चालक की अनिश्चितकालीन हड़ताल बुधवार को दूसरे दिन भी जारी रही। सफाई कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने के कारण शहर में गंदगी का अंबार लगा हुआ है। विगत कई दिनों से डोर टू डोर कचरा का उठाव भी बंद है। शहर के मुख्य मार्ग से लेकर पचना रोड, चितरंजन रोड, किऊल बस्ती, कबैया रोड, इंगलिश मुहल्ला, शिवपुरी मुहल्ला, पूर्वी और पश्चमी कार्यानंद नगर में घर का कचरा सड़क पर जमा है। नालों की सफाई नहीं हुई है। हर जगह गंदगी पसरी हुई है। पिछले कई दिनों से आउटसोर्सिंग एजेंसी के सफाई कर्मी काम नहीं कर रहे थे। इस कारण पूरे शहर में 21 हजार घरों से डोर टू डोर कचरा का उठाव भी बंद है। नप के सफाई इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार ने बताया कि बुधवार को आउटसोर्सिंग एजेंसी पीयूष सत्यम सेवा समिति और महिला विकास समिति के सफाई कर्मी काम पर वापस लौट आए हैं। गुरुवार से शहर की सफाई कार्य में तेजी आएगा। जबतक मास्टर रोल पर बहाल कर्मी हड़ताल पर रहेंगे शहर की सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखना चुनौती होगी। सफाई कर्मी संघ के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मल्लिक ने अनिश्चितकालीन हड़ताल की लिखित जानकारी कार्यपालक पदाधिकारी को भी दी है। सुरेंद्र मल्लिक ने बताया कि राज्य भर के निकायों के सफाई कर्मी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं। सफाई कर्मियों की सेवा को नियमित करने, स्थाई कर्मियों को समान रूप से सातवां वेतन एवं सेवांत लाभ देने, आउटसोर्स पर रोक लगाने, अनुकंपा पर नियुक्ति करने सहित 11 सूत्री मांग की गई है। नगर परिषद लखीसराय प्रशासक से सफाई कर्मियों के मानदेय में 50 फीसद वृद्धि करने की मांग की गई है। नगर परिषद के स्थाई सफाई कर्मी काम पर हैं लेकिन कूड़ा उठाव का काम इनसे संभव नहीं है।

Edited By: Jagran