लखीसराय। पिछले 24 घंटे में गंगा ने अपना ऐसा रौद्र रूप दिखाया कि जिला अंतर्गत इसकी सहायक नदियां किऊल और हरूहर भी उफानाने लगीं। जिले के पिपरिया प्रखंड का दियारा इलाका पूरी तरह बाढ़ की चपेट में आ गया है। स्थिति 2016 में आई भीषण बाढ़ सी बनती जा रही है। पिपरिया प्रखंड के पिपरिया पंचायत के बाद अब वलीपुर और रामचंद्रपुर पंचायत के हर गांव में गंगा और किऊल नदी का पानी प्रवेश कर गया है। सुमन चौक के पास सुरक्षा तटबंध पर खतरा उत्पन्न हो गया है। यदि समय रहते यहां सुरक्षा उपाय नहीं किए गए तो पूरा दियारा इलाका तबाह हो जाएगा। बाढ़ से निबटने की दो महीने से चल रही सरकारी तैयारी की पोल भी खुलकर सामने आ रही है। हाल यह है कि दियारा में गंगा की धार जब कहर ढाने लगी तब प्रशासन तैयारी में जुटा है। दियारा क्षेत्र के लोगों की मानें तो अगर गंगा का जलस्तर थोड़ा और बढ़ा तथा किऊल नदी का पानी रामचंद्रपुर में प्रवेश कर जाएगा। फिर दियारा की स्थिति भयावह हो जाएगी। मुख्य सड़क से लेकर गांव तक चार से पांच फीट की ऊंचाई में पानी बह रहा है। घरों एवं दुकानों में पानी प्रवेश कर गया है। पिपरिया पंचायत का भी हाल बुरा है। स्थानीय वार्ड सदस्य रामपुकार यादव ने बताया कि अबतक एक भी पदाधिकारी ने पिपरिया आकर बाढ़ का हाल नहीं जाना है। गांव में भोजन, पानी और मवेशियों के लिए चारा की दिक्कत हो रही है। घरों में पानी घुसा हुआ है। पिपरिया थानाध्यक्ष राजकुमार साह, एसआइ रंजीत कुमार ने नाव और पैदल भ्रमण कर बाढ़ प्रभावित पिपरिया पंचायत के गांव जाकर स्थिति का जायजा लिया है। थानाध्यक्ष ने लोगों से अपने बच्चों को पानी में नहीं भेजने की अपील की है।

----

वलीपुर और रामचंद्रपुर पंचायत हुआ जलमग्न

पिपरिया प्रखंड की वलीपुर और रामचंद्रपुर पंचायत में गंगा नदी का पानी प्रवेश करने के बाद दोनों गांव और प्रखंड मुख्यालय जाने वाली सड़कों पर पानी बहने लगा है। वलीपुर चौक पर भी बाढ़ का पानी तेज रफ्तार से बह रहा है। इस कारण वाहनों का आवागमन बंद हो गया है। रामचंद्रपुर गांव स्थित चौक बाजार जहां दर्जनों की संख्या में दुकानें हैं वहां कमर भर पानी की धार बह रही है। घरों और दुकानों में गंगा का पानी भर गया है। रामचंद्रपुर गांव स्थित विद्युत सब स्टेशन भी गंगा नदी का पानी घुस गया है। यदि एक फीट पानी और बढ़ा तो पूरे दियारा इलाके में बिजली आपूर्ति बंद हो जाएगी। बाढ़ से दियारा में जानवर और इंसान दोनों की परेशानी बढ़ गई है। जिला परिषद अध्यक्ष रामशंकर शर्मा, प्रमुख प्रतिनिधि रामविलास सिंह, पूर्व प्रमुख रविरंजन कुमार उर्फ टनटन ने बाढ़ प्रभावित वलीपुर, रामचंद्रपुर पंचायत के कई गांव की स्थिति का जायजा लिया और बीडीओ, सीओ, जिलाधिकारी को अवगत कराते हुए राहत और मदद की गुहार लगाई है।

Edited By: Jagran