लखीसराय। जर्जर बिजली तार की चपेट में आकर रामगढ़ चौक थाना क्षेत्र के नदियामा गांव में एक सप्ताह के अंदर दो लोगों की मौत हो गई। गांव में अक्सर बिजली प्रवाहित तार टूट कर गिर जाता है। लोगों की जान जाने के बाद भी विभाग बेखबर है। बुधवार की देर देर शाम नदियामा गांव के वार्ड नंबर पांच रविदास टोला के रहने वाले संघेश्वर रविदास के बेटे रंजीत रविदास (30) आटो चलाकर अपने घर आया। घर के पास आटो खड़ा करके अब आगे बढ़ कि उसके ऊपर बिजली प्रवाहित र टूट कर गिर गया। करंट लगने से उसकी वहीं मौत हो गई। कुछ लोगों ने बताया कि पोल से तार पहले से गिरा हुआ था जिसके संपर्क में वह आ गया। संयोग था कि उसे तार से वहां खेल रहे दर्जन भर बच्चे संपर्क में नहीं आए। वरना इससे भी बड़ा हादसा संभव था। रंजीत रविदास के मूर्छित होकर गिर जाने के बाद ग्रामीणों के सहयोग से उसे शेखपुरा स्थित अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां डाक्टर ने मृत बता दिया। इसके बाद शव को रखकर ग्रामीणों के सहयोग से रामगढ़ चौक-शेखपुरा मुख्य सड़क मार्ग को नदियामा के पास जाम कर दिया गया। रविवार को भी इसी गांव एवं टोले के युवक की मौत के बाद लोगों ने सड़क जाम किया था। इसके बाद जर्जर तार बदलने का आश्वासन दिया गया लेकिन कुछ नहीं हुआ। इस कारण लोगों का गुस्सा और बढ़ गया। सूचना पर रामगढ़ चौक थाना के एएसआइ दिलीप कुमार ने पहुंचकर काफी समझाया लेकिन ग्रामीण समझने को तैयार नहीं थे। दो घंटे बाद पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि मोहन कुमार रंजन ने पहुंच कर मुआवजा देने का आश्वासन देकर जाम हटवाया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए लखीसराय भेज दिया।

Edited By: Jagran