लखीसराय। बिहार विधानसभा अध्यक्ष सह लखीसराय के विधायक विजय कुमार सिन्हा ने शनिवार को मुख्यालय स्थित मंत्रणा कक्ष में विधानसभा क्षेत्र के सभी माध्यमिक और प्लस टू उच्च विद्यालयों के प्रधानाचार्यों तथा शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि शिक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता में है। आज गुरु पूर्णिमा है और आप गुरुजनों के कंधों पर ही छात्र-छात्राओं के भविष्य को सुनहरा बनाने की जिम्मेदारी है। यह सच है कि साधन सीमित है परंतु इसी सीमित संसाधन में हमें बेहतर करने का प्रयास करना होगा। शिक्षा के क्षेत्र में लखीसराय का नाम रोशन करना ही हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। विजय कुमार सिन्हा ने बैठक में मौजूद सभी प्रधानाध्यापकों से बारी-बारी से उनकी समस्याओं को सुना। अधिकांश प्रधानाध्यापकों ने अध्यक्ष के समक्ष विद्यालयों में विषय वार शिक्षकों की कमी, कंप्यूटर शिक्षक का अभाव, विद्यालय की जमीन का अतिक्रमण, चहारदीवारी का निर्माण कराने जैसी समस्याओं को रखा। उन्होंने स्मार्ट क्लास, प्रयोगशाला कक्ष, शौचालय, पेयजल की उपलब्धता के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों को शिक्षकों की संख्या, वर्ग कक्ष सहित आधारभूत संरचना की पूरी रिपोर्ट उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने निर्देशित किया कि जिन विद्यालयों में चहारदीवारी नहीं है वहां मनरेगा योजना से कार्य कराने का निर्देश दिया। उन्होंने बैठक में सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को एक सप्ताह के अंदर नए सिरे से सभी विद्यालयों में प्रबंध समिति का गठन कर लेने का निर्देश दिया। बैठक में डीपीओ गोपाल कृष्ण, डीपीओ शिवचंद्र बैठा, सभी बीईओ मौजूद थे। शिक्षा विभाग की बैठक के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने डीएम संजय कुमार सिंह, एडीएम इबरार आलम, डीडीसी अनिल कुमार, डीसीएलआर संजय कुमार, एसडीपीओ रंजन कुमार के साथ एक बैठक की और जिले में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की।

Edited By: Jagran