लखीसराय। कोरोना वायरस पिछले साल की तुलना में ज्यादा घातक रूप में संक्रमण फैला रहा है। इस बार कोरोना अदृश्य मौत बनकर टूट पड़ी है। बिना किसी लक्षण के किसी भी उम्र के लोग अचानक काल के गाल में समा रहे हैं। इसके खौफ से हर कोई सहमा हुआ है। इसी बीच खरमास भी खत्म हो गया और लग्न की शुरुआत हो गई है। शादी-ब्याह का मौसम आ गया है। कोरोना लहर के बीच शहनाई की धुन बजेगी। सरकार ने इसके लिए भी गाइडलाइन जारी किया है। 100 से अधिक लोग इसमें शामिल नहीं हो सकते हैं। बावजूद लोग बेपरवाह बने हुए हैं। सतर्कता की कमी के बीच लोग अपने हिसाब से समारोह आयोजित कर रहे हैं। जनवरी से लेकर 13 अप्रैल तक खरमास रहने के कारण शादी विवाह कार्य अवरुद्ध हो गया था। 21 अप्रैल से शादी विवाह का लग्न शुरू हो गया है। शादी समारोह में सादगी की जगह गाजे बाजे के साथ पंडाल आदि बनाए जा रहे हैं। शादी को लेकर महिलाओं की झुंड ग्रामीण देवी देवताओं का पूजन तथा विध करने निकलने लगी है। बनारसी पंचांग के अनुसार कुल 49 दिनों का लग्न है।

---

बनारसी पंचांग के अनुसार अप्रैल से दिसंबर तक लग्न

अप्रैल : 22, 24, 25, 26, 27, 28, 29 एवं 30 तारीख

मई : 01, 02, 07, 08, 09, 13, 14, 21, 22, 23, 24, 26, 28, 29 एवं 30 तारीख

जून : 03, 04, 05, 16, 19, 20, 22, 23 एवं 24 तारीख

जुलाई : 01, 02, 07, 13 एवं 15 तारीख

नवंबर : 15, 16, 20, 21, 28, 29, 30 तारीख

दिसंबर : 01, 02, 06, 07, 11 एवं 13 तारीख