लखीसराय। जिले के रामगढ़ चौक प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय बरतारा में एक शिक्षक द्वारा अपनी शिक्षिका पत्नी की पैरवी को लेकर स्कूल के प्रधानाध्यापक के साथ अभद्र व्यवहार करने का मामला प्रकाश में आया है। मामला गत दस अक्टूबर का है। इस मामले को लेकर सोमवार को केस दर्ज किया गया है।

बरतारा के प्रधानाध्यापक पीएन मिश्रा ने दर्ज केस में कहा है कि आरोपित शिक्षक शैलेश कुमार सिंह बरतारा के पड़ोसी गांव सोंधी के रहने वाले हैं और हलसी प्रखंड के मध्य विद्यालय नोमा में प्रखंड शिक्षक हैं। उनकी पत्नी रूबी कुमारी उत्क्रमित मध्य विद्यालय बरतारा में प्रखंड शिक्षिका हैं। मैंने रूबी देवी की ड्यूटी अ‌र्द्धवार्षिक मूल्यांकन 2019 के मूल्यांकन कार्य में लगाई थी। रूबी मूल्यांकन करने जाना नहीं चाह रही थीं। इस कारण उनके शिक्षक पति शैलेश कुमार सिंह पत्नी के विद्यालय में पहुंचकर दबंगई दिखा दी। वह चाह रहे थे कि उनकी पत्नी का नाम मूल्यांकन कार्य से हटा दिया जाए। मैंने उनसे कहा कि यह काम सीआरसी स्तर से हो सकता है, मैं असमर्थ हूं। इतना सुनते ही शैलेश ने कार्यालय कक्ष के अंदर हंगामा करते हुए टेबल पटक दिया। सरकारी अभिलेख को फाड़ दिया। गार्ड फाइल प्रधानाध्यापक के हाथ से छीन लिया। उन्होंने अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते हुए मेरे साथ मारपीट करने लगे और गला दबाना लगे। साथ ही आपराधिक कृत्य करते हुए जेब से रुपये निकाल लिए और अंगुली से अंगूठी तक छीन ली। यह संयोग था कि शोर सुन अन्य शिक्षक पहुंचे और मेरी जान बचाई। उसने जाते-जाते जान से मार देने की धमकी दी है।

इधर रामगढ़ चौक के थानाध्यक्ष धीरेंद्र पाठक ने बताया कि पीड़ित प्रधानाध्यापक के आवेदन पर केस दर्ज कर लिया गया है। सूचना पर पुलिस को उक्त विद्यालय में भेजा गया था जहां घटना सत्य प्रतीत हुई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस