लखीसराय। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को वीडियो कांफ्रें¨सग के जरिए जिलाधिकारी शोभेन्द्र कुमार चौधरी एवं पुलिस अधीक्षक कार्तिकेय के. शर्मा को कई निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि अबतक सरकारी जमीन का रसीद काटने वाले सभी कर्मचारी को चिह्नित कर उसके विरूद्ध कार्रवाई करें। उन्होंने प्रत्येक शनिवार को नियमित रूप से थानाध्यक्ष एवं अंचलाधिकारी को संयुक्त रूप से बैठक कर भूमि विवाद के मामले का निपटारा करने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब प्रत्येक थाना में थाना प्रबंधक की नियुक्ति की जाएगी। किसी भी थाना में अब निजी चालक नहीं रहेगा। थाना में किराए के वाहन का इस्तेमाल करने पर ही उसके लिए निजी चालक रखा जा सकता है। सभी थाना में बेसिक (लैंड लाइन) फोन लगाना जरूरी है। सभी थाना में स्टेशन डायरी को अद्यतन रखना जरूरी है। इसमें कोताही बरतने वाले पुलिस पदाधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। पीड़ित को अब प्राथमिकी दर्ज कराने में सीमा विवाद अथवा क्षेत्र विवाद के कारण परेशानी नहीं उठाना पड़ेगा। अब कोई भी व्यक्ति कहीं भी प्राथमिकी दर्ज करा सकेंगे। सभी ग्राहक सेवा पर सीसीटीवी लगाना अनिवार्य है। ग्राहक सेवा केंद्र पर सीसीटीवी नहीं लगाने वाले संचालक के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मुख्य सचिव, डीजीपी सहित तमाम आला अधिकारी मौजूद थे। जबकि जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक के साथ अनुमंडल पदाधिकारी मुरली प्रसाद ¨सह एवं डीसीएलआर नीरज कुमार मौजूद थे।

Posted By: Jagran