किऊल-झाझा रेलखंड के भलूई-जमुई स्टेशन के बीच कुंदर हॉल्ट के पास की घटना

नक्सल प्रभावित इलाका रहने के कारण घंटों दहशतजदा रहे ट्रेन पर सवार सभी यात्री संवाद सूत्र, चानन (लखीसराय) : शुक्रवार की रात किऊल-झाझा रेलखंड के भलूई-जमुई स्टेशन के बीच कुंदर हॉल्ट के पास किऊल की ओर से झाझा की ओर जा रही 15236 डाउन दरभंगा-हावड़ा सुपरफास्ट साप्ताहिक एक्सप्रेस ट्रेन का इंजन फेल हो गया। इससे कुंदर हॉल्ट स्थित पोल संख्या-398/04 के पास दो घंटे तक ट्रेन रुकी रही। कुंदर हॉल्ट के पास रात के 20:00 बजे सुपरफास्ट ट्रेन के खड़ी रहने से उसमें सफर कर रहे यात्री दहशतजदा हो गए। रात को जिस स्थान पर ट्रेन का इंजन फेल हुआ था उसी स्थान पर बीते 13 जून 2013 को दिनदहाड़े नक्सलियों ने धनबाद-पटना इंटरसीटी एक्सप्रेस ट्रेन पर हमला बोल दिया था। जिसमें ट्रेन में तैनात एक एस्कॉर्ट पार्टी के जवान सुखनाथ देवनाथ, प्रशिक्षु दारोगा कुमार अमित उर्फ बंटी एवं पूर्णिया निवासी सरवर इस्लाम की हत्या कर दी गई थी। कई पुलिस जवानों के हथियार एवं कारतूस की लूट कर नक्सली जंगल की ओर फरार हो गए थे। इधर इस ट्रेन का इंजन फेल होने से ट्रेन के 18604 डाउन भागलपुर-रांची वनांचल एक्सप्रेस ट्रेन भलूई हॉल्ट पर घंटों खड़ी रही। रेल मंडल दानापुर के आदेश पर वनांचल एक्सप्रेस ट्रेन के इंजन को भलूई हॉल्ट से कुंदर की ओर भेजकर दरभंगा-हावड़ा साप्ताहिक ट्रेन को पीछे से ठेलकर जमुई तक पहुंचाया गया। भलूई हॉल्ट के स्टेशन मास्टर राकेश कुमार ने बताया कि दरभंगा-हावड़ा साप्ताहिक एक्सप्रेस ट्रेन का इंजन फेल रहने से 20:27 से 22:14 बजे तक डाउन लाइन पर ट्रेन परिचालन बाधित रहा। 22:14 बजे वनांचल एक्सप्रेस ट्रेन भलूई हॉल्ट से जमुई की ओर रवाना हुई।

Edited By: Jagran