लाखोचक पंचायत मुख्यालय जाने वाली सड़क की 30 वर्षो से नहीं हुई है मरम्मत

संसू., चानन (लखीसराय) : किसी भी क्षेत्र के विकास की स्थिति का अंदाजा वहां की सड़कों से लगाया जाता है। लेकिन आजादी के छह दशक बीत जाने के बाद भी जिस क्षेत्र के लोग एक सड़क के लिए लालायित है वहां के विकास का अंदाजा लगाया जा सकता है। प्रखंड क्षेत्र की लाखोचक पंचायत मुख्यालय गांव जाने वाली मुख्य सड़क विकास का मुंह चिढ़ा रही है। इस सड़क पर निकले नुकिले पत्थरों से होकर रोज यहां के ग्रामीण घर जाने एवं घरों से बाहर जाने में दुर्घटना के शिकार होते हैं। हाल यह है कि बीते 30 वर्षों से उक्त सड़क पर कोई भी विकास कार्य नहीं हुआ है। जहां-तहां विकास के नाम पर राशि की लूट खसोट हुई है। इस सड़क पर कभी पंचायत समिति योजना से तो कभी मुखिया योजना से विकास के नाम पर राशि निकाली है लेकिन सड़क की दशा देखकर धरातल पर काम कम कागजों पर अधिक हुआ लगता है। ग्रामीणों के अनुसार 30 साल पूर्व सूर्यगढ़ा विधान सभा क्षेत्र के तत्कालीन विधायक अलख शर्मा के कार्यकाल में इस सड़क का निर्माण कराया गया। इसके बाद पूर्व क्षेत्रीय विधायक रहे भाजपा विधायक प्रेम रंजन पटेल ने अपने कार्यकाल में उक्त सड़क को पथ निर्माण विभाग के अधीन करने का प्रयास किया लेकिन पूरा नहीं हो पाया। ग्रामीण जयराम यादव, कमलेश्वरी यादव, विजय यादव, रवींद्र रजक, अखिलेश कुमार यादव, विनोद कुमार, मंटू यादव, धरमवीर कुमार, उत्तम कुमार, शंभू कुमार ने बताया की उन लोगों का गांव शासन सत्ता से उपेक्षित रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप