संवाद सहयोगी, लखीसराय : वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव को लेकर सरकार द्वारा कोरोना टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है। 18 वर्ष से अधिक उम्र के अधिकांश लोगों को कोरोना का टीकाकरण लगाया जा चुका है। इसके बाद 15 से 18 वर्ष तक के किशोर-किशोरियों को कोरोना का टीका लगाने का कार्य शुरू किया गया है। जिले में 15 से 18 वर्ष तक के 79 हजार किशोर-किशोरियों को कोरोना का टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। परंतु कोरोना का टीका लगवाने के प्रति किशोर-किशोरी उदासीन हैं। यही कारण है कि तमाम प्रयास के बावजूद काफी कम संख्या में किशोर-किशोरियों को कोरोना का टीका लगाया जा सका है। 15 से 18 वर्ष तक के शत-प्रतिशत किशोर-किशोरियों को कोरोना का टीका लगवाने को लेकर स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने संयुक्त रूप से योजना तैयार की है। इसको लेकर जिला शिक्षा पदाधिकारी ने जिले के सभी उच्च एवं उच्च माध्यमिक विद्यालय के सभी शिक्षकों को प्रतिदिन 10-10 छात्र-छात्राओं को कोरोना का टीका लेने के लिए प्रेरित कर उनका टीकाकरण करवाने का निर्देश दिया है। इसको लेकर सभी शिक्षकों को योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने का निर्देश दिया गया है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. अशोक कुमार भारती ने बताया कि जिला शिक्षा पदाधिकारी ने सभी शिक्षकों को आपस में समन्वय स्थापित कर वर्गवार छात्र-छात्राओं की सूची तैयार कर कोरोना का टीका दिलवाने को लेकर उसमें से 10-10 छात्र-छात्राओं को प्रतिदिन चयनित करने की योजना तैयार की है। चयनित छात्र-छात्राओं को एक जगह एकत्रित कर उन्हें कोरोना का टीका लेने के लिए प्रेरित कर टीका लगवाने का निर्देश दिया जाएगा।

Edited By: Jagran