संवाद सहयोगी, लखीसराय :

लखीसराय । कोरोना महामारी एवं बाढ़ की विभीषिका के बीच बिहार सरकार की चुनाव कराने की मंशा एवं विभिन्न राजनीतिक दलों की विजुअल रैली को देखते हुए बिहार के लाखों अराजपत्रित कर्मचारियों एवं शिक्षकों का प्रतिनिधित्व करने वाले संगठनों के प्रमुख घटक टेट-एसटेट उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ से जुड़े शिक्षकों ने ट्विटर पर चुनाव टालने के लिए पहले जान की बचाव फिर चुनाव की हैशटैग से अभियान छेड़ा है। गौरतलब है कि टेट-एसटेट उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ ने मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखकर कोविड 19 के मद्देनजर चुनाव टालने की आग्रह भी किया है। इस बाबत टेट-एसटेट उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ लखीसराय के अध्यक्ष अजय कुमार, जिला उपाध्यक्ष सुधीर कुमार और रविकांत ने कहा कि सरकार शिक्षकों समेत लाखों अराजपत्रित कर्मचारियों की जान जोखिम में डालकर राजतिलक की तैयारी कर रही है जो एक कल्याणकारी राज्य में लोकतांत्रिक सरकार को शोभा नहीं देता है। जब लोकतंत्र में लोक ही नहीं रहेंगे तो तंत्र से क्या फायदा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस