संवाद सूत्र, कोचाधामन (किशनगंज) : महानंदा और कनकई नदी का जलस्तर बढ़ने से कोचाधामन प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों गांव जलमग्न हो गया। जहां महानंदा नदी के जलस्तर बढ़ने से पाटकोई कला पंचायत एवं डेरामारी पंचायत के कई गांव टोले जलमग्न हो गया। लोगों के घर आंगन में पानी भर जाने से लोगों की परेशानी बढ़ गई। कुछ जगहों से लोग घर द्वार छोड़ कर ऊंचे स्थल पर चले गए। बाढ़ के मद्देनजर डेरामारी पंचायत के मुखिया शाहबाज आलम वार्ड सदस्यों के साथ बाढ़ पीड़ितों के बीच पहुंचकर हर संभव सहयोग किया। तथा प्रशासन को इसकी जानकारी देकर सहायता की मांग किया। उधर कनकई नदी का जलस्तर बढ़ने से मजकूरी पंचायत के मजकूरी पश्चिम, मजकूरी पूरब, लायतोर, नेंगसिया, बिशनपुर पंचायत के बिशनपुर, कैरी बीरपुर पंचायत के चैनपुर व अन्य टोला हल्दीखोड़ा पंचायत के हल्दीखोड़ा समेत कई अन्य टोले, सुंदर बाड़ी पंचायत के कई टोले, कोचाधामन पंचायत के कई टोले एवं कठामठा पंचायत के कई टोलों में पानी घुस गया। जिससे लोगों को परेशानी से दो-चार होना पड़ रहा है। जबकि कई सड़कों के कट जाने आवागमन बाधित हो गया। वहीं बिशनपुर पंचायत के बिशनपुर में उप प्रमुख प्रतिनिधि सद्दाम भारती, मुखिया पींटू चौधरी, सुंदर बाड़ी पंचायत में मुखिया तनवीर आलम, हल्दीखोड़ा पंचायत में मुखिया सबा अनवर, कठामठा पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि शाह नफीस मजकूरी पंचायत में मुखिया राजेंद्र प्रसाद यादव एवं कोचाधामन पंचायत में मुखिया अब्दुस सलाम ने बाढ़ पीड़ितों के बीच पहुंचकर उनका हाल चाल लिया। आई बाढ़ से क्षेत्र में कई कच्चे मकानों के गिरने की भी सूचना मिली है।

Edited By: Jagran