संवाद सहयोगी, किशनगंज : जिले के बीचोबीच गुजरने वाली एनएच-27 पर बने फ्लाई ओवर पर दस वर्ष बाद सुरक्षा के ²ष्टिकोण से व्यू कटर लगाया जा रहा है। कई वर्षो के बाद पुल रेलिग पर अचानक लोहों के मोटे-मोटे रेलिग बनाता देख लोगों के बीच चर्चा विशेष बना हुआ है। गतिशील फ्लाई ओवर के बीच के समकक्ष निर्माणशील पुल भी अब अंतिम रूप रेखा दिया जा रहा है। जल्द ही लोगों को अब एनएच पर आवागमन के लिए होने वाली समस्या का निदान हो जाएगा।

प्रोजेक्ट के इंजीनियर केडी रंजन ने बताया कि नए पुल निर्माण के साथ ही दोनों पुल के रेलिग के किनारे व्यू कटर बनाया जा रहा है। ताकि जिलाधिकारी और अन्य सरकारी कार्यालय का सुरक्षा में किसी तरह का सेंध ना हो। व्यू कटर लग जाने से लोगों की नजर पुल से बाहर नहीं जाएगा। बताया कि नए पुल पर 260 मीटर और पुराने पुल पर 240 मीटर लंबी व्यू कटर बनाया जाना है। जिसका बजट नए पुल निर्माण के साथ ही संलग्न है। वहीं जिलाधिकारी डा. आदित्य प्रकाश ने जानकारी देते हुए बताया कि एनएच पर पुराने फ्लाई ओवर के समीप ही जिलाधिकारी के आवास का बड़ा हिस्सा पुल से दिखता है। साथ ही पुल से धरमगंज चौक स्थित गेस्ट हाउस की भी दिखती है, जो सुरक्षा के ²ष्टिकोण से सही नहीं था। जिसके बाद पूर्वाधिकारी जिलाधिकारी हिमांशु कुमार द्वारा भी एनएचआइ को आवेदन सौंप इस ओर ध्यान उत्कृष्ट करवाया गया था। लेकिन पहल नहीं होने के बाद वर्तमान में भी एनएचआइ को आवेदन सौंप इस ओर ध्यान उत्कृष्ट करवाया गया था। इसके बाद एनएचआइ द्वारा फ्लाई ओवर पर यह व्यू कटर लगाया जा रहा है।

Edited By: Jagran