संवाद सूत्र, पहाड़कट्टा (किशनगंज) : स्वास्थ्य विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के प्रत्येक पंचायतों में गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से उप स्वास्थ्य केंद्रों का निर्माण कराया गया है, ताकि जन्म से लेकर दो वर्ष तक बच्चे स्वस्थ्य रहे तथा गर्भवती महिलाओं का समय-समय पर स्वास्थ्य जांच कर उन्हें चिकित्सीय सलाह दी जाए। ऐसे उप स्वास्थ्य केंद्रों में डाक्टर पदस्थापित नहीं किए जाने से ग्रामीणों को इसका समुचित लाभ नहीं मिल पा रहा है। पोठिया प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत रायपुर पंचायत स्थित रायपुर खरखड़ी गांव में लगभग बीस वर्ष पूर्व उप स्वास्थ्य केंद्र रायपुर का लाखों रुपये की लागत से निर्माण कार्य किया गया था। लेकिन विडंबना ही कहा जाए कि पंचायत के लोगों को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने वाली उप स्वास्थ्य केंद्र आज स्वयं बीमार है।

उप स्वास्थ्य केंद्र के प्रांगण में गंदगी तथा झाड़-जंगल को देखकर इस बात का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि उप स्वास्थ्य केंद्र का ताला शायद महीने तो क्या सालों बाद भी नहीं खुलती है। इसका उपयोग अब ग्रामीण जलावन रखने में कर रहे हैं। बीस वर्ष पूर्व बने उप स्वास्थ्य केंद्र का खिड़की केवाड़ी तक टूट चुका है। उप स्वास्थ्य केंद्र का उचित रख-रखाव एवं साफ सफाई नहीं होने से यह पूरी तरह खंडहर में तब्दील हो चुकी है। शौचालय भी जीर्णशीर्ण अवस्था में है जो संवेदक द्वारा किए गए कार्य की गुणवत्ता को भी दर्शाता है। स्थानीय ग्रामीण देव शंकर दास, निर्मल कुमार दास, रामधारी दास, पंचानन्द दास, स्थानीय वार्ड सदस्य सुरज कुमार दास, शक्ति कुमार दास, पंच सदस्य हिनौती देवी तथा कमरूद्दीन आदि दर्जनों ग्रामीणों बताया कि उप स्वास्थ्य केंद्र रायपुर का लगभग 21 वर्ष पूर्व जब निर्माण कार्य हुआ था तो स्थानीय लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई थी। लेकिन उप स्वास्थ्य केंद्र के निर्माण काल से अबतक डाक्टर तो दूर एएनएम भी नहीं आती है। पहले कभी-कभी एएनएम द्वारा उप स्वास्थ्य केंद्र में आकर मात्र टीकाकरण का रस्म पूरी कर के चले जाते थे, लेकिन पिछले कई सालों से अब यह भी पूरी तरह बंद हो गया है। उप स्वास्थ्य केंद्र पर मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधा से आज भी ग्रामीण वंचित हैं।

---------------

कोट के लिए:-

उपस्वास्थ्य केंद्र रायपुर में किस एएनएम को प्रतिनियुक्त किया गया है इसकी जानकारी हमें नहीं है। यदि हमें ग्रामीणों द्वारा लिखित रूप से दिया जाता है तो इस की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

डा. रंजन कुमार, चिकित्सा प्रभारी समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पोठिया

Edited By: Jagran