किशनगंज। जिला परिषद सदस्यों की अहम जिम्मेदारी होती है कि अपने क्षेत्र के पंचायत और ग्रामों का सर्वांगीण विकास करें। जिससे कि पंचायती राज व्यवस्था द्वारा संचालित योजना का लाभ जन-जन तक पहुंचाया जा सके। यह बातें सोमवार को जिला परिषद अध्यक्ष रुकैया बेगम ने डीआरडीए परिसर स्थित रचना भवन में तीन दिवसीय जिला परिषद जन प्रतिनिधि प्रशिक्षण कार्यक्रम का विधिवत दीप प्रज्जवलित कर उद्घाटन करने के उपरांत कही। उन्होंने कहा कि जिप जन प्रतिनिधि अपने क्षेत्र का सर्वांगीण विकास करें। इसके लिए उन्हें तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

इस प्रशिक्षण के उपरांत जन प्रतिनिधि अपने कार्य और अधिकार के प्रति भली-भांति अवगत हो जाएंगे।

वहीं जिला परिषद उपाध्यक्ष कमरुल होदा ने कहा कि पंचायती राज व्यवस्था के तहत केंद्र और राज्य सरकार द्वारा कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है। इस सभी योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को उपलब्ध हो सके। जिसे कि गांव में रहने वाले ग्रामीणों को सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, इंदिरा आवास, स्वच्छता मिशन, सामाजिक सुरक्षा और कृषि की नवीन तकनीक का जानकारी सुगमतापूर्वक मिल जाए। प्रशिक्षण लेने के बाद जन प्रतिनिधियों में स्वयं ही अपने कार्य और अधिकार के प्रति सजग हो जाएंगे। इस क्रम में प्रोजेक्टर के माध्यम से जिप जनप्रतिनिधियों को कई जानकारी दी गई। इस दौरान मुख्य रुप से जिप सदस्य गुंचा बेगम, गणेश मूर्म, मो. इस्लाम, इफराना बेगम, जीनत परवीन, उजलेखा खातुन, शौकत बेगम, फरहत फातमा, फरहीन नाज, धनोमाता देवी, तंजीमा खातून, सायरा बानो, सहेरुन निशां और अबु कैसर सहित कई लोग मौजूद थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस