किशनगंज। प्रखंड के हालामाला पंचायत के बालुबाड़ी गांव के निवासी ईदमोहम्मद की 12 वर्षीय भांजी तराना का शव सोमवार को मिला।

जानकारी के अनुसार, रविवार को दोपहर दो बजे बालुबाड़ी निवासी तराना महानंदा नदी में नहाने के दौरान नदी में डूब गई थी जिससे उसकी मृत्यु हो गई थी, शव को प्रशासन एवं स्थानीय ग्रामीणों द्वारा बहुत ढूंढा गया लेकिन रविवार को शव नहीं मिल सका, बच्ची के डूबने की खबर किशनगंज सीओ समीर कुमार ने एसडीआरएफ की टीम को दिया। एसडीआरएफ की टीम ने सोमवार को सुबह से ही अपने नौ सदस्यीय टीम को लेकर शव को ढूंढना आरंभ किया, काफी ढूंढने के पश्चात लगभग दोपहर दो बजे बच्ची के शव को घटनास्थल से करीब दो किलोमीटर दूर से ढूंढकर निकाला गया, नदी के बहाव के कारण शव इतनी दूर पर मिला, शव के मिलने पर बच्ची के स्वजनों के द्वारा शव को पोस्टमार्टम करने से इनकार कर दिया गया, शव के मिलते ही नदी किनारे ग्रामीणों की भीड़ लग गई, ग्रामीणों ने बताया कि तराना का घर दमदमा गांव में है जो कोचाधामन प्रखंड में पड़ता है। उसके पिता का नाम शफीक है, लेकिन बच्ची बचपन से ही मामा के घर में रहती थी, शव को ढूंढने के लिए घटनास्थल पर सुबह से ही किशनगंज सीओ समीर कुमार, बेलवा कर्मचारी इस्लामुद्दीन, एसडीआरएफ टीम के एसआई संजीत कुमार, सदस्य गणेश राय, मनोज कुमार, विक्रम कुमार,सोनालाल चौधरी, दिलीप कुमार, दिनानाथ शर्मा, मनीष कुमार सिंह, हालामाला पंचायत के मुखिया इसहाक आलम, हालामाला सरपंच तैयब आलम, वार्ड सदस्य नवाज अशरफ, महजूब आलम, हतशाम नाजिर, प्रदीप कुमार सहित दर्जनों गमगीन मौजूद थे।

Edited By: Jagran