किशनगंज। शारदीय नवरात्र के सप्तमी तिथि को मां दुर्गा का पट खुलते ही पूजा पंडालों में पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की लंबी कतारें देखी जा रही है। नवसृजित नगर पंचायत पौआखाली, खानाबाड़ी, रसिया, सरायकुड़ी, खोदागंज, माखनपुर,कुम्हियां समेत विभिन्न क्षेत्रों के दुर्गा मंदिरों में भगवती के कालरात्रि स्वरूप की पूजा श्रद्धा के साथ की गई। वहीं श्रद्धालुओं ने मंदिर परिसर में मां दुर्गा के जयकारे भी लगाए।

कुशल शिल्पकारों द्वारा तैयार पूजा स्थलों में मां भगवती की प्रतिमा काफी जीवंत प्रतीत हो रही है। साथ ही पौआखाली बाजार स्थित सार्वजनिक दुर्गा मंदिर परिसर में पंडाल को पश्चिम बंगाल के कलाकारों द्वारा काफी भव्य लुक दिया गया है। कोरोना काल में भी मां की पूजा-आराधना के लिए श्रद्धालुओं में काफी उत्साह दिख रहा है। वहीं बा•ारों में भी काफी चहल पहल देखी जा रही है। कपड़े, मिठाई, फल एवं पूजा सामग्री की दुकानों पर भीड़ देखी जा रही है। वहीं कई पूजा समितियों द्वारा कोविड-19 को देखते हुए मास्क व सैनिटाइजर की व्यवस्था पूजा स्थलों पर की गई है। सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति पौआखाली एवं खानाबाड़ी के द्वारा विधिपूर्वक सप्तमी के अवसर पर मंगलवार को मां भगवती के सातवें स्वरूप कालरात्रि की पूजा अर्चना की गई। कोविड-19 गाइडलाइन के कारण भीड़ में कुछ कमी देखी गई, लेकिन मां दुर्गा के दर्शन एवं पूजन को लेकर भक्तों का उत्साह चरम पर है। वहीं प्रशासन भी इस मौके पर चुस्त रही। जगह-जगह पुलिस टीम गश्त करती रही।

Edited By: Jagran