किशनगंज। विधानसभा उपचुनाव को लेकर सोमवार को मतदान में लोगों ने निर्भय और निष्पक्ष होकर मतदान करने को लेकर सुबह सात बजे से ही मतदान केंद्र पर पहुंचने लगे। मतदान केंद्र पर कतार में खड़े रहकर आम व खास यानी हर तबके के लोग अपने मताधिकार का प्रयोग किए। इससे यह भी स्पष्ट हुआ कि चुनाव आयोग द्वारा मतदान प्रक्रिया को सुगम बनाने की रणनीति बिलकुल सफल रही है।

सोमवार को मतदान केंद्रों पर सुबह से ही आम और खास हर तबके के लोग पंक्तिबद्ध खड़े दिखे। जहां जगन्नाथ स्कूल धरमगंज स्थित मतदान केंद्र पर जिलाधिकारी हिमांशु शर्मा व एसपी कुमार आशीष मतदान करने पहुंचे। वहीं सांसद डॉ. मु. जावेद आजाद अपने गांव के मतदान केंद्र पर सपरिवार वोट डालने पहुंचे। जबकि विधान पार्षद सह एमजीएम मेडिकल कॉलेज निदेशक डॉ. दिलीप कुमार जायसवाल सपरिवार उत्क्रमित मध्य विद्यालय दिलावरगंज मतदान केंद्र पर मतदान करने पहुंचे।

इस दौरान विधान पार्षद डॉ. दिलीप कुमार जायसवाल ने कहा कि विधानसभा उपचुनाव में भी सभी मतदाताओं का प्रथम कर्तव्य बनता है कि वह सब काम छोड़कर अपना मतदान मतदान करें। इसका मुख्य वजह यह है कि लोकतंत्र में मतदान को किसी पूजा और इबादत के कम नहीं माना गया है। विधानसभा क्षेत्र का प्रत्येक मतदाता चुनाव में एक नायक के समान होता है। मतदाताओं को अपने वोट की शक्ति का प्रयोग हर हाल में करना चाहिए। यही वजह है कि सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए अभियान चलाए जाते हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रत्याशी के हार-जीत के निर्णय में एक-एक वोट निर्णायक साबित होता है। उनके एक वोट से बेहतर प्रत्याशी चुनाव जीत सकता है। इसी का परिणाम रहा कि किशनगंज विधानसभा उपचुनाव में 59.18 फीसद से अधिक मतदान हुए। हालांकि चार मतदान केंद्र पर ईबीएम मशीन खराब होने के कारण मतदान में कुछ समय के लिए धीमा अवश्य हो गया था। इसके बावजूद भी मतदान को लेकर मतिदान केंद्रों पर लोगों की भीड़ देखी गई। इससे पूर्व माता गुजरी विश्वविद्यालय के रजिस्टार डॉ. इच्छित भारत ने भी मतदान कर युवाओं से वोट डालने की अपील की। वहीं डीएम हिमांशु शर्मा और एसपी कुमार आशीष ने भी मतदान करने के लिए कतार में खड़े होकर मतदान किए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप