किशगनंज। टेढ़ागाछ प्रखंड में पंचायत चुनाव पांचवें चरण में चौबीस अक्टूबर को होना है। बाढ़ के कारण मतदान केंद्रों पर मतदान दल का वाहन पहुंचना मुश्किल होता है। इस वजह से यहां पांचवें चरण में मतदान की तिथि चुनाव आयोग के तरफ से निर्धारित की गई है। जब से चुनाव की तारीख की घोषणा चुनाव आयोग के तरफ से किया गया है, मतदाता व प्रत्याशी के बीच आंख-मिचौली का खेल जारी है। चुनाव प्रचार करने घर-घर प्रत्याशी दस्तक दे रहे हैं।

चुनावी चर्चा चौक-चौराहे से लेकर अब रिटायर मास्टर साहेब के दलान में भी अभी से होने लगी है। रिटायर मास्टर साहेब का टोला मास्टर साहेब के दलान में शाम ढलते हीं पहुंच जाता है और मास्टर साहेब का स्पेशल दूध का चाय मतदाता को खूब भाता है। नया नियम कानून व चुनावी समाचार की ताजा खबर मास्टर जी के दलान में बैठने भर से मिल जाता है। चुनावी चर्चा में रिटायर मास्टर साहेब के टोले वाले दूसरे टोले पर निगरानी रखे हुए हैं, कहीं सौ-पचास वोट खेल बना और बिगाड़ भी सकता है। हालांकि मुखिया, सरपंच, समिति, जीप प्रत्याशी सभी हर टोले-मुहल्ले में अभी से घर-घर संपर्क साधने में जुटे हैं। वहीं पर मास्टर साहेब प्रत्याशियों को दिखाने के लिए अभी से अपने मुहल्ले के वोटरों को अपने कब्जे में रखने के लिए दलान सजाने में जुटे हुए हैं। चतुर रिटायर मास्टर साहेब का मानना है कि प्रत्याशियों को अपने पीछे घुमाने के लिए पांच-दस हजार भी चाय पानी में खर्च हो जाए तो घाटे का सौदा नहीं है। यह देखकर अब रिटायर मास्टर साहेब के दलान में प्रत्याशियों का आना जाना भी तेज हो गया है। शाम होते ही मास्टर साहेब के दरवाजे पर लगने वाली भीड़ बता रही है कि आखिर उनकी मंशा क्या है। अधिकांश प्रत्याशी मान रहे हैं कि इस टोले में तो मास्टर साहेब ही वोटरों के असली मड़र हैं। उनके टोले के लोग रिटायर मास्टर साहब पर ही भरोसा करते हैं। मस्टर साहेब और गांव के लोगों की राय है कि जो प्रत्याशी मेरे गांव का विकास जैसे लड़कियों के लिए कालेज, विधवा के लिए समय पर पेंशन, गरीब मजदूरों के लिए नियमित रोजगार की गारंटी, युवाओं के लिए पंचायत में तकनीकी प्रशिक्षण की व्यवस्था व स्वरोजगार, किसानों के लिए फसल का उचित दाम, पशुओं के लिए अस्पताल व आवास से लेकर रोड-घाट, बिजली-पानी, स्वास्थ्य-शिक्षा जैसी मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए जो प्रत्याशी दलान में बैठकर संकल्प लेगा सभी गांव वाले उसी को अपना मतदान करेंगे।

Edited By: Jagran