फोटो 12 केएसएन 53

संवाद सूत्र, ठाकुरगंज (किशनगंज) : प्रखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत छैतल के रुईधासा गांव में करीब 30 हजार आबादी को उत्तम स्वास्थ्य सेवा देने के उद्देश्य से निर्मित उप-स्वास्थ्य केंद्र खुद बीमार नजर आता हैं। केंद्र के चारों ओर गंदगियों का अंबार लगा हुआ है। भवन के अंदर भी काफी गंदगी भरी पड़ी है। गर्भवती व प्रसवदायी महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं सहित कई अन्य स्वास्थ्य सेवाओं से क्षेत्र की हजारों की आबादी वंचित हैं। स्वास्थ्य विभाग द्बारा स्थापित उप-स्वास्थ्य केंद्र में मात्र प्रत्येक बुधवार को टीकाकरण का कार्य पदास्थापित एएनएम के द्वारा की जाती है। इसके सिवाय इस केंद्र में किसी भी तरह की स्वास्थ्य सेवाएं लोगों को मुहैया नहीं हो पाती हैं। स्थानीय ग्रामीण जकी अनवर, शोएब अहमद, मो. जमालुद्दीन, मो. मकबूल हक, मो. अब्दुल रहमान, प्रदीप राय, मोती लाल, तनवीर आलम एवं मो. सुलेमान आदि ने बताया कि उप स्वास्थ्य केंद्र, रुईधासा के पोषक क्षेत्र अन्तर्गत छैतल, रुईधासा, दोगच्छी, हसनपुर, कच्चूदह भोलाभिट्टा, फुलभाषा, आजमनगर, झाड़बाड़ी, बावनडांगी, ननकार, खैरवाडी, घस्सीकुड़ा, दुधौन्टी एवं बेंगडोंगरा आदि सहित दर्जनभर से अधिक गांव की करीब 30 हजार आबादी आवश्यक स्वास्थ्य सेवा से मरहूम हैं। यदि इस स्वास्थ्य केंद्र को केंद्र सरकार द्वारा संचालित हेल्थ एन्ड वेलनेस सेंटर के रूप में स्थापित की जाए तो प्रखंड मुख्यालय से 32 किमी दूर खारुदह व बरचौन्दी पंचायत समेत दर्जनभर पंचायत के लोगों को भी इस केंद्र से स्वास्थ्य लाभ मिलेगा। साथ ही छोटे-छोटे बीमारी के लिए रोगियों व उनके परिजनों को पीएचसी ठाकुरगंज आने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इनलोगों ने बताया कि गत दस वर्ष पूर्व महिला प्रसव कार्यक्रम समेत अन्य स्वास्थ्य सेवाओं के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा रुईधाषा गांव में लाखों रूपये खर्च कर उप-स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना करते हुए भवन निर्माण कार्य कराया गया था। लेकिन इस स्वास्थ्य केंद्र से एक बड़ी आबादी स्वास्थ्य सेवा से मरहूम है एवं अब भी लोगों को ग्रामीण चिकित्सकों पर निर्भर रहना पड़ता है। इनलोगों ने बताया कि उप-स्वास्थ्य केंद्र,रुईधाषा में आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने हेतु कई बार जनप्रतिनिधियों एवं स्वास्थ्य विभाग के वरीय पदाधिकारी को लिखित रूप से अवगत कराते हुए इस ओर ध्यान आकृष्ट कराया गया है पर स्थिति जस की तस हैं।

ज्ञात हो कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष-2007-08 में ग्राम रुईधाषा में आठ लाख की राशि से उप स्वास्थ्य केंद्र भवन का निर्माण कराया गया था पर एक दशक बीत जाने के बाद भी लोगों को जरूरी स्वास्थ्य सेवाएं न मिलने से स्थानीय ग्रामीणों का जनप्रतिनिधियों एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रति काफी आक्रोश है। जिला पदाधिकारी व सिविल सर्जन से उप स्वास्थ्य केंद्र रुईधाषा में हेल्थ एन्ड वेलनेस सेंटर स्थापित करने की मांग की है। ताकि लोगों को सुलभ तरीके से स्वास्थ सेवाएं उपलब्ध हो सके। वहीं इस संबंध में सिविल सर्जन डॉ. परशुराम प्रसाद ने बताया कि ठाकुरगंज प्रखंड अंतर्गत अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र पौआखाली में विभागीय मार्गदर्शिका के अनुसार आयुष्मान योजना के तहत हेल्थ एन्ड वेलनेस सेंटर का संचालन के लिए चिन्हित किया गया है। अब तक उप स्वास्थ केंद्रों में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोलने का कोई विभागीय निर्देश प्राप्त नहीं हुआ है। भविष्य में यदि विभागीय कोई आदेश प्राप्त होता है तो जनहित में इस पर विचार किया जा सकता है।

Posted By: Jagran