- बाढ़ प्रभावित जिलों में सूचना तंत्र मजबूत करने को सेटेलाइट फोन से किया गया लैस

- छह बोट के साथ 37 सदस्यीय एसडीआरएफ की टीम पहुंची किशनगंज

- कोचाधामन, टेढ़ागाछ व किशनगंज प्रखंड में किए गए तैनात

- 13 सितंबर तक भारी वर्षा का है अनुमान, प्रशासन अलर्ट

संवाद सहयोगी, किशनगंज : बाढ़ प्रभावित जिलों की निगरानी करने को लेकर राज्य सरकार ने सेटेलाइट फोन की मदद ली है। लिहाजा बाढ़ आपदा के दौरान सूचना तंत्र मजबूत करने व पल-पल की जानकारी से अपडेट रहने के लिए बाढ़ प्रभावित जिलों को सेटेलाइट से लैस किया गया है। इसके लिए राज्य सरकार के द्वारा जिलों में सेटेलाइट फोन भेजा गया है। जिसके तहत किशनगंज जिले को भी चार फोन उपलब्ध कराया गया है। अब जिलाधिकारी व अन्य वरीय पदाधिकारी सेटेलाइट फोन के जरिए बाढ़ आपदा के दौरान पूरी व्यवस्था का मॉनिट¨रग करेंगे। वहीं नदियों के जलस्तर में कमी आने से प्रशासन व ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। लेकिन एहतियातन किशगनंज, कोचाधामन व टेढ़ागाछ प्रखंडों में एसडीआरएफ की टीम को तैनात किया गया है। इसके अलावा जिला आपदा प्रबंधन के द्वारा सभी प्रखंडों में नाविक को नाव के साथ मुस्तैद किया गया है।

जिला आपदा प्रबंधन के प्रभारी पदाधिकारी राजेश गुप्ता ने इस संबंध में बताया कि आपदा के समय सूचना तंत्र मजबूत करने के लिए सेटेलाइट फोन दिया जा रहा है। इस फोन की खासियत यह है कि ये हर मौसम व हर परिस्थिति में काम करता है। इसके माध्यम से सूचना तंत्र को सीधे राज्य मुख्यालय से जोड़ा जा सकेगा। जो क्षण भर में आपदा प्रभावित स्थानों की सूचना जिला मुख्यालय से लेकर राज्य सरकार तक पहुंचाएगी। ताकि बचाव टीम लोगों की जान बचाने के लिए भेजी जा सके। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष आई बाढ़ में सभी टेलीकॉम नेटवर्क के ठप होने से सूचना आदान-प्रदान में बहुत कठिनाई हुई थी, जिस कारण हम लोग सही समय पर अत्यधिक प्रभावित क्षेत्र में ससमय नहीं पहुंच सके थे। अब सेटेलाइट फोन के माध्यम से सूचना मिलते ही कई बहुमूल्य ¨जदगियों को बचाया जा सकेगा। इसके अलावा उन्होंने बताया की 11,12 एवं 13 सितंबर तक भाड़ी बारिश होने की संभावना है, जिस कारण जिला प्रशासन अलर्ट है।

आपदा प्रबंधन पदाधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार पटना से 37 सदस्यीय एसडीआरएफ की टीम किशनगंज पहुंच चुकी है। छह बोट के साथ किशनगंज पहुंची टीम को तीन टुकड़ी में बांट कर तीन प्रखंडों में भेजा गया है। सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित प्रखंड टेढ़ागाछ, कोचाधामन व किशनगंज प्रखंड में दो-दो बोट के साथ एएसडीआरएफ की टीम तैनात की गई है। वहीं मंगलवार शाम तक महानंदा के जलस्तर में हो रही लगातार कमी के बावजूद एहतियात के तौर पर जिला प्रशासन बचाव के लिए पूरी तैयारी कर चुकी है।

Posted By: Jagran