फोटो 10 केएसएन 46

- ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों के साथ प्रशासनिक अधिकारियों ने की बैठक

- बैठक व माइ¨कग के जरिए ग्रामीणों से सचेत रहने की अपील की

-----------------------

संवाद सूत्र, छत्तरगाछ (किशनगंज) : महानंदा व डोक नदी के बढ़ते जलस्तर को देख प्रशासन भी मुस्तैद हो गई है। खासकर खतरे के निशान से उपर बह रही महानंदा के उफान को देख जिला प्रशासन द्वारा प्रखंड क्षेत्र में बाढ़ को लेकर लोगों को अलर्ट कर दिया गया है। सोमवार को प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा जगह-जगह पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों, बुद्धिजीवियों व ग्रामीणों के साथ बैठक कर सावधानियां बरते जाने की अपील की गई।

पोठिया प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत छत्तरगाछ में जिला पंचायती राज पदाधिकारी सत्यनारायण मंडल के नेतृत्व में विभिन्न पंचायतों के मुखिया, वार्ड सदस्य, पंचायत समिति सदस्स्यों व बुद्धिजीवियों की एक बैठक की गई। जिसमें बाढ़ की आशंका जताते हुए सावधानियां बरतने की अपील की गई। बैठक में उपस्थित डीपीआरओ द्वारा बाढ़ को लेकर किशनगंज जिला को प्रशासन की ओर से अलर्ट पर रहने की जानकारी दी गई। डीपीआरओ ने इस संबंध में बताया कि प्रखंड क्षेत्र के सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यापक व आंगनबाड़ी केन्द्रों के सेविकाओं को नजदीकी बुद्धिजीवियों, समाज सेवकों, स्थानीय जनप्रतिनिधियों को चाबी देने का निर्देश दे दिया गया है। ताकि आपदा के समय इस्तेमाल किया जा सके। इसके अलावा बाढ़ आपदा के मद्?देनजर नाव समेत नाविकों को तैयार रहने को कहा गया। वहीं स्थानीय जनप्रतिनिधियों से आपदा के दौरान पूर्ण सहयोग प्रदान करने की अपील की गई। इसी प्रकार पोठिया सीओ विरेन्द्र कुमार ¨सह, बीडीओ शशीम शौरभ मणी, डीपीआरओ सत्यनारायण मंडल, पोठिया थाना अध्यक्ष सुभाष मंडल, चिचुआबाड़ी ओपी प्रभारी रंजीत ठाकुर व राजस्व कर्मचारी गण सहित पुलिस प्रशासन दिन भर क्षेत्र भ्रमण कर जायजा लेते हुए और ग्रामीणों को किसी सचेत रहने की अपील करते दिखे। वहीं इस संबंध में सीओ विरेन्द्र कुमार ¨सह ने बताया कि सभी राजस्व कर्मचारियों को संबंधित पंचायतों में अलर्ट रहने को कहा गया है। प्रखंड स्तर पर आपदा प्रबंधन टीम के द्वारा क्षेत्र का भ्रमण कर पल-पल की जायजा ली जा रही है, फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।

Posted By: Jagran