किशनगंज। कोरोना संक्रमण के कारण लोग जहां लॉकडाउन में घरों में रहने की मजबूर थे वहीं अब लॉकडाउन में छूट मिलते ही बाजार में अचानक से भीड़ बढ़ गई है। दुकानों को एक दिन छोड़ खोले जाने के बाद भी बाजार में खरीदारों की भीड़ उमड़ने लगी है। स्थिति ऐसी हो गई है कि बाजार में वाहनों की प्रवेश इतनी बढ़ गई है कि दिनभर बाजार के विभिन्न सड़कों पर रूक-रूककर जाम लगती रहती है। भीड़ के बीच शारीरिक दूरी की धज्जियां उड़ती है जो कोरोना संक्रमण के लिए घातक हो सकता है।

संक्रमण का खतरा कम होने के बाद लोगों के अंदर से कोरोना का भय मानों बिल्कुल समाप्त हो चुका है। घर में तो लोग भीड़ से दूर रहते हैं लेकिन बाजार पहुंचते ही सब कुछ भूलकर बिना मास्क एवं शारीरिक दूरी का उल्लंघन कर घूमते हैं और खरीदारी करते हैं। लोग इतने लापरवाह हैं कि मास्क पहनना तक उचित नहीं समझते हैं। बाजार में अधिकांश लोग बिना मास्क के ही घूमते नजर आते हैं। लोगों को अभी भी सजग रहने की जरूरत है अगर लोग कोरोना के गाइडलाइन का पालन नहीं करेंगे तो खुद के साथ समाज के लिए संक्रमण से खतरा उत्पन्न करने का काम करेंगे। संक्रमण के भय से पहले जहां बाजार में लोगों की चहल कदमी कम थी वहीं अब दुकान सहित फुटपाथ पर भी दुकानें सजने लगी है जो भीड़ को और अधिक बढ़ा रहा है। यहां तक कि दुकानदार भी संक्रमण के नियम की अनदेखी कर बिना मास्क पहने रहते हैं और दुकान पर खड़े ग्राहक के भीड़ को सामान देते हैं। खासकर सार्वजनिक स्थल पर संक्रमण के प्रति लोगों की सजगता थोड़ी भी नहीं दिखती है। संक्रमण के प्रति लोगों को सजग होने की जरूरत है ताकि संक्रमण से खुद को सुरक्षित रखने के साथ समाज को भी सुरक्षित रखा जा सके।

Edited By: Jagran