किशनगंज [जेएनएन]। जूट व्यवसायी नंदकिशोर अग्रवाल के घर में डकैती करने घुसे डकैतों के द्वारा मचाए जा रहे उपद्रव के बाद घर के अंदर से आ रही हो-हल्ला की आवाज को सुनकर गश्ती पर निकली पुलिस की टीम कैंपस के भीतर घुसी। पुलिस की गाड़ी की आवाज सुनकर चौंकन्ना हुए डकैतों ने पुलिस पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं।

जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। फायरिंग के बाद डकैत गोलियां बरसाते हुए भागने लगे। इस मुठभेड़ में एक हवलदार को गोली लग गई जिससे उसकी मौत हो गई, वहीं एक डकैत भी मारा गया।

जानकारी के मुताबिक शहर के मध्य में एमजीएम मेडिकल कॉलेज रोड स्थित जूट व्यवसायी के घर में 13-14 की संख्या में डकैत देर रात जूट व्यवसायी के घर में घुसे और घर के सभी कीमती सामान खंगालने लगे। डकैती की घटना को अंजाम देने के बाद वो भागने की तैयारी में थे कि रात्रि गश्ती के लिए निकली पुलिस की टीम से मुठभेड़ हो गई, जिसमें एक हवलदार की गोली लगने के बाद इलाज के दौरान मौत हो गई और एक डकैत की भी पुलिस की गोली लगने से मौत हो गई। 

एसडीपीओ आवास से बमुश्किल 200 मीटर की दूरी पर घटी इस घटना की जानकारी मिलते ही एसडीपीओ, टाउन थानाध्यक्ष समेत तमाम पुलिस पदाधिकारी मौके पर पहुंचे। जिसमें तीन डकैतों को दबोचा गया है शेष अन्य डकैत भागने में सफल रहे। इससे पूर्व भी इसी व्यवसायी के घर डकैती की घटना दो बार घटित हुई है।गिरफ्तार डकैतों की निशानदेही पर पुलिस शहर से सटे बंगाल में छापेमारी कर रही है।

सुबह 4.30 बजे से ही पूर्णिया एसपी विशाल शर्मा के नेतृत्व में छापेमारी चल रही है। डकैतों के पास से एक देशी कट्टा और एक झोला बम भी बरामद किया गया है।

Posted By: Kajal Kumari