संवाद सहयोगी, किशनगंज : कृषि विज्ञान केंद्र के सभागार में शुक्रवार को वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक हुई। जिसका शुभारंभ निदेशक अटारी डा. अंजनी कुमार, प्राचार्य डा. कलाम कृषित महाविद्यालय, प्रभारी डीएओ रजनी सिंहा और वरीय विज्ञानी सह प्रधान केवीके मनोज राय ने संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलित कर किया। निदेशक अटारी डा. अंजनी कुमार ने केंद्र पर प्राकृतिक एवं जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रत्यसक्षण इकाई की स्थापना की जाए। जिला में 2200 मिली प्रति वर्ष वर्षापात होता है। जो अनानास और चायपत्ती उत्पादक किसानों के लिए वरदान है। केंद्र द्वारा जो भी आगामी कार्य योजना बनाई जाए । जिससे अधिक से अधिक प्रति इकाई उत्पादन प्राप्त किया जा सके। बैठक में केवीके द्वारा चलाए जा रहे कृषि से संबंधित गतिविधियां व रुपरेखा केवीके प्रधान ई. मनोज कुमार राय द्वारा प्रस्तुत किया गया। जिसमें युवा-युवतियों के लिए कौशल प्रशिक्षण, जलवायु अनुकूल कृषि कार्यक्रम अंतर्गत अंगीकृत पांच गांव एवं निक्रा परियोजना अंतर्गत तीन गांवों और विज्ञानी द्वारा विभिन्न कृषि तकनीकियों का प्रतिफल तथा अनुशंसा प्रस्तुत किया गया। इस दौरान मुख्य रुप से विज्ञानी डा. हेमंत कुमार सिंह, विज्ञानी डा. नीरज प्रकाश, सुनीता कुमारी, अंजुम हाशिम और राकेश मंडल सहित कई लोग मौजूद रहे।

Edited By: Jagran