खगड़िया। कोसी खगड़िया में खतरे के निशान को पार कर गई है। अब वह कहर ढाने लगी है। कोसी के बाढ़ का पानी जमींदारी बांध के अंदर बसे कई गांवों में फैल गया है। बेलदौर प्रखंड के इतमादी पंचायत स्थित पचबीघी एवं पुरानी डीह इतमादी, गोगरी प्रखंड के सहरौन गांव का सीधा सड़क संपर्क प्रखंड मुख्यालयों से भंग हो गया है। ये गांव टापू में तब्दील हो गए हैं। एकाएक बाढ़ का पानी फैलने से बेलदौर बीडीओ शशिभूषण कुमार रविवार को पचबीघी गांव में तीन घंटे तक घिरे रहे। पचबीघी से चार किलोमीटर दूर डुमरी से नाव आने बाद वे गांव से बाहर निकल सके। बीडीओ शौचालय की जांच को पचबीघी गए थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि रविवार को एकाएक कोसी के जलस्तर में तीन फुट की वृद्धि हुई है।

ग्रामीण निजी नाव के सहारे आवागमन को विवश है। नदी के जलस्तर में बेतहाशा वृद्धि को देख बांध के अंदर रह रहे लोगों में भय व्याप्त हो गया है। कोसी जिस रफ्तार में है उससे घरों में पानी प्रवेश करने में समय नहीं लगेगा। इधर बेलदौर सीओ अमित कुमार ने बताया कि पचबीघी आदि बांध के अंदर अवस्थित है। अभी तक नाव की मांग नहीं की गई है। वैसे शीघ्र यहां नाव का परिचालन शुरू कराया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप