खगड़िया । शुक्रवार को दैनिक जागरण में छपी खबर सहरौण में 10 मीटर में बोरा बंडाल नदी में समाया, बाद, बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल- दो के पदाधिकारियों एवं कर्मियों ने सहरौण गांव में कटाव स्थल का मुआयना करते हुए फ्लड फाइटिग के तहत कराए गए कार्य के क्षतिग्रस्त भाग का मरम्मत कार्य शुरू करवा दिया। इसके तहत क्षतिग्रस्त भाग में कटाव पर अंकुश लगाने के लिए बंबू पाइलिग और ट्री-स्पर का कार्य शुरू किया गया है। ताकि कटाव की रफ्तार पर विराम लगाया जा सके। वहीं एनसी बैग खिसके नहीं इसको लेकर रस्सी के सहारे एनसी बैग को बांधा जा रहा है। बताते चलें कि कोसी नदी के कटाव से सहरौण गांव को सुरक्षित करने के लिए एक सौ मीटर भाग में फ्लड फायटिग के तहत बंबू पायलिग कर एनसी बैग का कार्य कराया गया है। लेकिन फ्लड फाइटिग बाद उफनती कोसी नदी में बोरा बंडाल समाने लगा। जिसके बाद पुन: विभाग को यहां फ्लड फाइटिग कार्य कराना पड़ा है। बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल-दो के कार्यपालक अभियंता गोपालचंद्र मिश्र ने बताया कि क्षतिग्रस्त भाग की मरम्मत कार्य शुरू करा दिया गया है। स्थिति पर पैनी नजर रखे हुए हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021