खगड़िया। बिहार राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देश पर व्यवहार न्यायालय खगड़िया एवं अनुमंडलीय व्यवहार न्यायालय गोगरी में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन खगड़िया में जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष विधिक सेवा प्राधिकार उमाशंकर द्विवेदी ने दीप प्रज्वलन कर किया। मामलों के निष्पादन हेतु कुल सात पीठ की स्थापना की गई थी। जिसके लिए परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश अशोक कुमार गुप्ता, एडीजे तृतीय गुरविदर सिंह मल्होत्रा, एडीजे चतुर्थ प्रमोद कुमार यादव, एसडीजेएम संतोष कुमार दूबे, न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी ओम शंकर, अंकिता जायसवाल एवं दीपक कुमार पीठासीन पदाधिकारी बनाए गए। जबकि पीठ को मदद करने हेतु पैनल अधिवक्ता अनिरुद्ध कुमार, प्रभाष कुमार सिंह, श्रीनिवास चौधरी, राजेंद्र महतो, कुमार कलानंद, संजय कुमार एवं गोपाल प्रसाद सिंह को प्रतिनियुक्त किया गया।

इस अवसर पर परिवार न्यायालय, भारतीय स्टेट बैंक, ग्रामीण बैंक, यूको बैंक, सेंट्रल बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक, बैंक आफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक, श्रम न्यायालय, बिजली बिल, दूरसंचार विभाग, सभी प्रकार के दिवानी एवं फौजदारी सुलहनीय मामले उपस्थापित किए गए। इस मौके पर जिला जज स्वयं बैंच की निगरानी करते देखे गए। इस मौके पर कुल 927 मामले निष्पादित किए गए। जबकि आठ करोड़ 81 लाख 27 हजार आठ सौ चार रुपये की ऋण राशि हेतु समझौता हुए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021