कटिहार। कोरोना संक्रमण को लेकर बाहर से आए प्रवासी मजदूरों को अब अपने घर पर रोजगार मिलने लगा है। दरअसल मनरेगा योजना के तहत चल रहे कार्यों की वजह से प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिलने से उन्हें तत्काल राहत मिली है।

जिलाधिकारी के निर्देश पर मनरेगा पीओ विनय कुमार ने सभी पंचायत पीआरएस को सख्त हिदायत दी है कि किसी भी हाल में जरूरतमंद प्रवासियों को काम देना है। सरकार ने मजदूरों के माली हालत को देखते हुए मनरेगा योजना शुरू करने का निर्देश दिए गए हैं ताकि मजदूरों को जीवन-यापन में कठिनाई नहीं हो। मनरेगा योजना की शुरूआत होने से मजदूरों को राहत मिलने की उम्मीद बढ़ी है। फलका प्रखंड के 13 पंचायत में मनरेगा कार्य शुरू कर दिया गया है। क्षेत्र में मनरेगा योजना के तहत आवास योजना, जल जीवन हरियाली के तहत पोखर जीर्णोद्धार, सड़क में मिट्टी भराई, क्वारंटाइन सेंटर में सोख्ता निर्माण आदि कार्य चल रहे हैं। मनरेगा कार्यक्रम पदाधिकारी विनय कुमार ने बताया कि प्रखंड के सभी पंचायतों में चल रहे कार्यों में करीब 2228 मजदूरों को अब तक काम मिला है। वहीं क्वारंटाइन सेंटर से निकले करीब 17 सौ प्रवासियों का नया जॉब कार्ड बनाया गया है और उन्हें प्राथमिकता के साथ काम दिया जा रहा है। वहीं मजदूर कार्य स्थल पर शारीरिक दूरी का पालन करने के साथ ही मास्क व कपड़े से मुंह को ढककर कार्य करते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस