संवाद सूत्र, कदवा (कटिहार): राजकीय पुरस्कार प्राप्त प्रखंड के कन्या मध्य विद्यालय कुम्हरी के प्रधानाध्यापक कृष्णानंद कुमार विद्यालय में शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान करने के साथ निर्धन अनुसूचितजाति एवं महादलित बच्चों के बीच ज्ञान का प्रकाश फैलाने के अभियान में लगे हुए हैं। इसके साथ हीं वे विभिन्न सामाजिक कार्यों को करते हुए लोगों को प्रशिक्षण देकर स्व रोजगार भी उपलब्ध करवा रहे हैं। गत कई वर्षों में इनके प्रयास से विद्यालय में विज्ञान प्रयोगशाला के साथ अक्षर पार्क , कला भवन, कचरा प्रबंधन, प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय की प्रतिकृति निर्माण के साथ अनेक कार्य किए गए हैं। साथ हीं वे विद्यालय से बाहर भर्री पंचायत के डांगी गांव में अनुसूचित जाति एवं महादलित वर्ग के निर्धन छात्रों के लिए अलग से विद्यालय खोल कर स्कूल के समय से पहले एवं बाद में जरुरी शैक्षणिक संसाधन उपलब्ध करवा कर पढ़ा रहे हैं। ताकि उसे उचित शिक्षा देकर मुख्यधारा में जोड़कर तरक्की के पथ पर आगे लाया जा सके। साथ हीं उनके द्वारा अनेक सामाजिक कार्य भी किए जा रहे हैं। उन्होंने कुम्हरी में बालिका छात्रावास के निर्माण हेतु अपनी जमीन भी दान में दी है। जिसमें प्लस टू बालिकाओं के लिए छात्रावास का निर्माण हुआ है। उन्होंने दर्जनों महिलाओं को सिलाई कढ़ाई का प्रशिक्षण देकर स्व रोजगार उपलब्ध करवाया है। कोरोना काल में लोगों के बीच जागरुकता अभियान भी चलाया था। वहीं विद्यालय के मेधावी एवं निर्धन छात्रों को प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी वे विद्यालय अवधि के बाद करवाते हैं। गत वर्ष इनमें से कई का चयन नवोदय सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में हुआ है। उनके लगन एवं मेहनत का हीं परिणाम है कि उनके विद्यालय की पहचान राज्य स्तर पर है। मंत्री से लेकर पदाधिकारी तक उनके कार्यों की सराहना कर अन्य विद्यालयों के लिए अनुकरणीय बताया था। साथ हीं पूर्व में लोगों को शौचालय एवं स्वच्छता के प्रति जागरुक करने हेतु लघु फिल्म इज्जत घर पर बनवाया था। जिसकी सराहना की गई थी। वे शिक्षा के प्रति अपनी जवाबदेही का निर्वहन बखूबी कर रहे हैं। उनके प्रयास से आज कमजोर दर्जनों छात्र पढ़ाई कर पा रहे हैं। क्या कहते कृष्णानंद

---------------------

इस संबंध में कृष्णानंद कुमार ने बताया कि उनका सपना है कि सभी शिक्षित हों। इसी उद्देश्य से कमजोर छात्रों को संसाधन उपलब्ध करवा कर पढ़ाई करवा रहे हैं। साथ हीं लोगों को विभिन्न प्रशिक्षण देकर उन्हें स्व रोजगार उपलब्ध करवा रहे हैं।

Edited By: Jagran