कटिहार। शिलान्यास के बावजूद पिछले एक वर्ष से सड़क का निर्माण कार्य शुरू नहीं होने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने जर्जर सड़क पर खड़ा होकर प्रदर्शन किया। मुकुरिया रेलवे स्टेशन से एसएच 98 को जोड़ने वाली लगभग पौने किलोमीटर सड़क जो घनी आबादी के बीच से होकर गुजरती है। उक्त सड़क के किनारे बीन, पासवान, मल्लाह आदि महादलित जाति के लोग निवास करते हैं। मुकुरिया पंचायत के वार्ड संख्या दो और तीन के हजारों परिवार उक्त सड़क से जुड़े हुए हैं। इसके बावजूद भी सड़क निर्माण कार्य अधर में पड़ा हुआ है जिसके कारण लोगों में काफी आक्रोश है। पिछले वर्ष अगस्त महीने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उक्त सड़क का शिलान्यास पटना से ही किया था। शिलान्यास का शिलापट्ट लगाने वाले स्थान पर मंत्री स्वयं आए थे परंतु आज तक संवेदक की ओर से एक ईंट भी सड़क के लिए नहीं गिराई गई है। गड्ढेनुमा कीचड़ युक्त जर्जर सड़क से लोगों को अब भी गुजरना पड़ रहा है। इतना ही नहीं उक्त सड़क की महत्ता इसलिए भी काफी अधिक है क्योंकि प्रत्येक वर्ष सावन के महीने में गोरखनाथ धाम के लिए लाखों रेल यात्री इसी मार्ग से मुकुरिया स्टेशन उतरकर गोरखनाथ धाम जाते हैं। इसके बावजूद भी सड़क का निर्माण नहीं होना दुखद है।

इस संबंध में स्थानीय सुरेश चौधरी ने कहा कि शासन, प्रशासन और उच्चस्तरीय प्रतिनिधियों से लगातार मांग करते रहने के बावजूद भी इस सड़क पर संवेदक द्वारा कार्य शुरू नहीं किया गया। विनोद सिंह जो बिहार सरकार के मंत्री थे, उनके जीवित रहते हुए सड़क का शिलान्यास हुआ था। परंतु दुर्भाग्यपूर्ण है कि आज तक कार्य आरंभ नहीं हो सका है। विधानसभा क्षेत्र के लोग आज भी विकास को तरस रहे हैं। इस अवसर पर मो नैयर आलम, छोटेलाल बीन, पूर्व प्रमुख दिनेश नुनिया, चरित्र बीन, प्रकाश यादव, रामचंद्र यादव, ब्रह्मदेव राय, खोखा राय, हीरा बीन, ललित शर्मा, लीलावती देवी, कलावती देवी, मालती देवी, विमला देवी, सुजीत कुमार दास, भुवनेश्वर यादव इत्यादि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Edited By: Jagran