कटिहार। हसनगंज प्रखंड में लगभग 86 लाख की लागत से बना पंचायत सरकार भवन उपेक्षा की भेंट चढ़ रहा है। एक छत के नीचे पंचायत स्तरीय सभी कार्यों के निष्पादन की परिकल्पना लिए तैयार यह भवन निर्माण के चार साल बाद भी उपयोग में नहीं लाया जा सका है। बता दें कि प्रखंड के बलुआ पंचायत में 86 लाख की लागत से पंचायत सरकार भवन का निर्माण कराया गया है। लेकिन इन वर्षों में इसकी देखभाल नहीं होने के कारण भवन जर्जर होता जा रहा है। परिसर में गंदगी और जंगल इसकी उपेक्षा की कहानी बयां कर रहे हैं। जबकि भवन में दरार पड़ने लगी है और कांच व खिड़की भी उपद्रवी लोगों द्वारा क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। यद्यपि कभी कभार यहां जनप्रतिनिधियों का आना जाना होता है और ग्रामीण स्तर के विवादों का निबटारा किया जाता है। लेकिन प्रशासनिक उदासीनता के कारण लाखों की लागत से निर्मित यह भवन अपना उद्देश्य खो रहा है।

Posted By: Jagran